इस जिले में लोग अपने पैसे से निकलवा रहे बाढ़ का पानी, दुकानें हुईं जलमग्न

गोरखपुर,जागरणसंवाददाता:उफनाईराप्तीमध्यमगतिसेशांतहोरहीहै,लेकिनसिद्धार्थनगरमेंडुमरियागंजनगरपंचायतमेंबाढ़कीविभीषिकाअभीभीबरकरारहै।आधादर्जनमोहल्लोंमेंकिरायेपरकमरालेकरदुकानदारीकरनेवालोंकिदुकानदारीलगभग25दिनसेठपहै,क्योंकिदुकानोंमेंबाढ़कापानीभराहुआहै।नगरपंचायतकीओरसेपानीनिकालनेकाकोईप्रबंधइसबीचनहींकियागया,जिसकेबादअबदुकानदारखुदपंपिंगसेटलगाकरदुकानमेंभरापानीनिकालनेकोमजबूरहुएहैं।

आधादर्जनमोहल्लोंमेंभराहुआहैबाढ़कापानी

डुमरियागंजनगरपंचायतकेआधादर्जनमोहल्लोंमेंबाढ़कापानीभराहुआहै।तेजधूपकेबादयहपानीकचरेकेसाथसड़रहाहै,जिसकेचलतेसंक्रामकबीमारियोंनेपांवफैलारखाहै।विभिन्नमोहल्लोंमें100सेअधिकदुकानदारोंकीदुकानदारीपानीभरनेकेकारणठपपड़ीहै।दुकानमेंजलभरावकेचलतेलाखोंकानुकसानहुआ,लेकिनमददकेनामपरकिसीदुकानदारकोआर्थिकसहायतानहींमिली,औरतोऔरदुकानकेमालिकभीमानवताकोताकपररखकरदुकानदारोंसेमकानकाकिरायाजबरियावसूलरहेहैं।नहींदेनेवालोंकेदुकानमेंतालाजड़रहेहैं।

जलजमावसेनिजातदिलानेकेलिएसामनेनहींआरहानगरपंचायत

गृहकरवसूलनेवालानगरपंचायतभीजलजमावसेनिजातदिलानेकेलिएसामनेनहींआरहाहै,जिसकेचलतेपरेशानदुकानदारअबनिजीव्यवस्थाकेसहारेपानीनिकालनेमेंजुटेहैं।एचडीएफसीबैंककेसामनेस्थितनिजामीबुकडिपोकेसंचालकनिजामीनेबतायाकिनगरपंचायतसेकईबारशिकायतकी,लेकिनपानीनिकालनेकीकोईव्यवस्थानहींहुई।अबनिजीपंपिंगसेटसेपानीनिकलवारहेहैं।उनकीदुकानकेअगल-बगलकीदुकानोंमेंभीपानीभरनेसेदुकानदारोंकोनुकसानहुआहै।

खीरामंडीमें50दुकानोंमेंभराहैपानी

खीरामंडीमेंलगभग50दुकानोंमेंपानीभराहै,लेकिननिकालनेकाकोईप्रबंधनहोतादेखदुकानदारनिजीखर्चसेपानीनिकलवारहेहैं।राहुलसिंह,दिलीपसोनी,अल्ताफ,सुधीरअग्रहरि,मुस्तकीमआदिनेबतायाकिनगरपंचायतनेसुधिनहींलीतोअपनेखर्चसेपानीनिकलवारहेहैं।ईओशिवकुमारनेकहाकिनगरपंचायतपानीनिकलवानेकेलिएमोटरलगवारहाहै,जिन्हेंजल्दीहै।वहीअपनेखर्चपरपानीनिकलवानेमेंलगेहैं।