Indian Navy Day: नौसेना दिवस पर पूर्व सैनिकों ने सुनी श्री सत्यनारायण भगवान की कथा, विश्व कल्याण की कामना

जमशेदपुर,जासं।नौसेनादिवसपरपूर्वसैनिकोंनेश्रीसत्यनारायणभगवानकीकथासुनी,जिसकेबादभगवानसेविश्वकल्याणकाआशीर्वादमांगा।अखिलभारतीयपूर्वसैनिकसेवापरिषद,पूर्वीसिंहभूमइकाईनेभुइयांडीहस्थितप्रीतमपार्कसामुदायिकभवनमेंनौसेनादिवससमारोहमनायागया,जिसमेंतीनोंसेनाओंसेसेवानिवृत्तजांबाज़सैनिकोंकेपरिवारवबच्चेशामिलहुए।

सरयूरायभीहुएशामिल

पूर्वसैनिकोंकेकार्यक्रममेंमुख्यअतिथिजमशेदपुरपूर्वीकेविधायकसहपूर्वमंत्रीसरयूरायभीशामिलहुए।इनकेअलावाविशिष्टअतिथिब्रिगेडियररणविजयसिंह(अवकाशप्राप्त),ईसीएचएसपॉलीक्लीनिकजमशेदपुरकेऑफिसरइंचार्जब्रिगेडियरपीकेझा,100फील्डरेजीमेंटकेकमांडिंगऑफिसरकर्नलमोहितसहायकेप्रतिनिधियूनिटकेलेफ्टिनेंटकर्नलअमितभारद्वाजवअखिलभारतीयपूर्वसैनिकसेवापरिषदकेप्रदेशमहामंत्रीसुशीलकुमारसिंहउपस्थितथे।कार्यक्रमकासंचालनडा.कमलशुक्लावविषयप्रदेशजिलाअध्यक्षजेडब्ल्यूओबृजकिशोरसिंहनेकिया।

सेवानिवृत्तहोनेकेबादज्यादासक्रिय:सरयू

अपनेसंबोधनमेंसरयूरायनेकहाकिआपसबनेसेनामेंरहतेहुएजितनाकार्यकिए,उससेज्यादाकार्यआपसबसेवानिवृत्तिकेबादकररहेहैं।मैंविगतकईवर्षोंसेआपसबकेद्वारासमय-समयपरदेशहितमेंचलाएजानेवालेअभियानसेभलीभांतिपरिचितहूं।आपसबकेहोतेहुएबॉर्डरकेअंदरकिसीभीदुश्मनकीकोईभीचालसफलनहींहोसकती।भारतीयसेनाओंकेयोगदानसेहमारासरहदभीसुरक्षितहै।ब्रिगेडियररणविजयसिंहनेकहाकिअबतकहमनेकहींभीइतनीबड़ीसंख्यामैंपूर्वसैनिकोंकीसभाकोसंबोधितनहींकिया।आपसबकेपरिवारकोएकसाथइतनीबड़ीतादादमेंदेखकरबहुतखुशीहोरहीहै।जबतकहमलोगऐसेसंगठितरहेंगे,हरसमस्याकासमाधानसंभवहोसकेगा।

सभीपूर्वसैनिककोहोईसीएचएसकीजानकारी

ब्रिगेडियरपीकेझानेकहाकिईसीएचएससेमिलनेवालीसभीकल्याणकारीपॉलिसियोंकीजानकारीआमसैनिकोंकोनहींहै,जिसकीवजहसेउन्हेंकईतरहकीसमस्याओंकासामनाकरनापड़रहाहै।जल्दहीआनेवालेदिनोंमेंसैनिकोंकीरैलीकरमैंसारीजानकारीउपलब्धकराऊंगा,जिससेहरसैनिकइसकालाभलेसके।लेफ्टिनेंटकर्नलअमितभारद्वाजनेपूर्वसैनिकोंकीएकताऔरअनुशासनकीसराहनाकरतेहुएकहाकिआपसबकेद्वारामिलनेवालासहयोगकार्यक्रमोंकोसफलबनानेमेंमहत्वपूर्णयोगदाननिभाताहै।आनेवालेसमयमेंएक-दूसरेकेसहयोगसेसैनिकोंकेहितमेंबड़ेप्रोग्रामआयोजितकिएजाएंगे।इसकेलिएहमसबहरसंभवसहयोगकरेंगे।

जहाजकेआकारकाकेककाटा

भारतीयनौसेनादिवसएवंसंगठनकीजानकारीदेतेहुएप्रदेशमहामंत्रीसुशीलकुमारसिंहनेकहाकिसंगठनकाएक-एकसैनिकसंगठनकेलिएमहत्वपूर्णहै।आर्मी,एयरफोर्सवनेवीसेऊपरउठकरहमलोगबड़ेसेबड़ेकार्यक्रमकोभीसफलबनादेतेहैं।संगठनकेसम्मानितसदस्यएवंउनकेपरिवारकायोगदानभुलायानहींजासकता।दुखकीघड़ीमेंपीड़ितपरिवारकेसाथखड़ाहोनाहीसंगठनकीमुख्यविशेषताहै,जिसकेकारणनित्यनएसैनिकसंगठनसेजुड़तेचलेजातेहैं।नौसेनादिवसकाकेकजहाजकेआकारकाबनाथा,जिसेदेखकरहीसहजअनुमानलगायाजासकताथाकिआजनौसेनादिवसहै।सभीनौसैनिकोंनेसंयुक्तरुपसेकेककाटाकार्यक्रमकेसंयोजकमनोजठाकुरएवंपूजाकेजजमानकेरूपमेंअमितकुमारसपत्नीशामिलहुए।कार्यक्रममेंधन्यवादज्ञापनपूर्वप्रदेशपदाधिकारीराजीवरंजननेकिया।

इनकीउपस्थितिरहीउल्लेखनीय

कार्यक्रममेंरमेशसिंह,बलजीतसिंह,बरमेश्वरपांडेय,विजयशंकरपांडेय,अभयसिंह,सतनामसिंह,अशोकश्रीवास्तव,जयदीप,मकबूलआलम,संतोषमिश्रा,अनिलराय,हंसराजसिंह,अनुजसिंह,महेशकुमार,आशुतोषकुमारसिंह,शिवशंकरचक्रवर्ती,गोविंदराय,रंजीतकुमार,अशोकशर्मा,मिथिलेशकुमारसिंह,नरेंद्रकुमार,भरतपोद्दार,डीएसतिवारी,अर्जुनठाकुर,मुन्नादुबे,संजीववर्मा,सुरेंद्रनाथमौर्या,महेशकुमारयादव,विनयश्रीवास्तव,बब्बनकुमार,जावेदखानसमेतलगभग250लोगोंनेसतनारायणभगवानकाप्रसाद,नेवीडेकेकऔरप्रीतिभोजकाआनंदउठाया।