हरियाली की नर्सरी में संवारी अपनी आर्थिक सेहत

अंबेडकरनगर:इरादेमजबूतऔरमंशासकारात्मकहोतोसबकुछआसानबनजाताहै।हरियालीकेलिएजगहकीकमीकोबांधाबतानेवालोंकेलिएकिसाननर्सरीमिशालहै।बरवांनासिरपुरनिवासीदुष्यंतसिंहहरियालीकीसंपदाकोसहेजनेमेंतीसरीपीढ़ीहैं।बाबास्वर्गीयराजकरनसिंहनेबेहदछोटेस्तरसेनर्सरीलगाईऔरपौधोंकीबिक्रीशुरूकी।इसकेबादपितात्रिलोकीनाथसिंहनेइसजिम्मेदारीकोआगेबढ़ाया।मुनाफामिलतादेखकरतीसरीपीढ़ीमेंदुष्यंतसिंहनेकरीबडेढ़बीघेमेंनर्सरीकोविविधपौधोंसेसमृद्धकरलियाहै।इन्हींकीतरहमीरानपुरनिवासीशीतलाप्रसादश्रीवास्तवभीअपनेघरकेअंदरबागवानीलगाकरप्रकृतिकोसहेजनेमेंअपनीभूमिकानिभारहेहैं।

-आमकाबागीचालगाकरबच्चोंकोदियाउपहार:टांडाब्लॉककेग्रामडांडीनिवासीरामदेवमद्धेशियाकोपर्यावरणसंरक्षणएवंखेतीसेविशेषलगावरहाहै।इसीकानतीजारहाहैउनकीमेहनतसेहीआजउनकेपासलगभगडेढ़बीघेमेंआमकीबगियाआनेवालेपीढि़योंकोप्रकृतिकाएकऐसाउपहारदेरहेहैंजिसेकभीभुलायानहींजासकेगा।आजभीलाठीसेसहारेदिनभरबागमेंरहकरवृक्षोंकीसुरक्षाऔरनयेपौधोंकोसहेजनाउनकीआदतमेंशुमारहोगयाहै।

-बागवानीकेलिएउद्यानविभागदेताहैअनुदान:किसानवपर्यावरणप्रेमीअगरअपनेनिजीभूमिपरबागीचालगाताहैतोउसेसरकारीअनुदानभीदियाजाताहै।जिलाउद्यानअधिकारीसंजयकुमाररस्तोगीनेविभागकीतरफसेआम,अमरूद,लीचीआदिफलदारकेबागीचालगानेमें50से60फीसदतकअनुदानदेनेकाप्राविधानहै।इसकेसाथहीरसोईबागवानीकेलिएभीसुविधादीजातीहै।

वर्तमानसमयमेंपौधोंकीविभिन्नप्रजातिआचुकीहै।इसमेंपीपल,बरगद,आमऔरविभिन्नवृक्षोंकेछोटेपौधेआतेहैंजोघरोंमेंआसानीसेलगासकतेहैं।इसकेसाथशोभाकारपौधेहोतेहैंजोपर्यावरणकेलिएबेहतरहैंऔरइन्हेंकमस्थानपरभीलगायाजासकताहै।

टीएनसिंह,डीएफओ,