हर समय दहल रहा खारकीव, पानी को तरसे छात्र, सरकार से लगा रहे मदद की गुहार, एक-एक पल काटना मुश्किल

जेएनएन,सम्भल:हरसमययूक्रेनकेखारकीवमेंहोरहेधमाकोंसेसम्भलजिलेकेछात्रोंकादिलभीदहलरहाहै।वहअपनेआपकोसुरक्षितरखनेकेलिएदिन-रातबंकरमेंगुजाररहेहैं।दूसरीसमस्याउनकेसामनेयहखड़ीहोनेलगीहैकिअबमात्रपांचदिनकाहीसामानहीउनकेपासखानेकारहगयाहै।सबसेज्यादादिक्कतइससमयउनकेलिएपानीकीहोरहीहै।पानीलेनेकेलिएउन्हेंबंकरसेकाफीदूरजानापड़रहाहैऔरहमलोंकेबीचउनकाबाहरनिकलनाकिसीबड़ेखतरेसेकमनहींहै।चारदिनपहलेबोतलमेंभरकरलाएपानीकोहीछात्रपीनेकेलिएमजबूरहैं।वहांहरसमयहोरहीबमबारीकेबीचहास्टलमेंपहुंचकरछात्रखानाभीनहींबनापारहेहैं।लेकिनपुलतावामेंफंसेछात्रोंकेलिएराहतकीबातयहहैकिवहांपरअभीतकरूसकीतरफसेहमलानहींकियागयाहै,लेकिनवहांरहनेवालेतीनोंछात्रभीबाहरनहींनिकलरहेहैं।वहांपरभीहमलेकाडरबनाहुआहै।

पानीलानेकेलिएजानापड़ताहैबाहर

इससमययूक्रेनमेंफंसेछात्रअपनेआपकोसुरक्षितरखनेकेलिएहास्टलमेंबनेबंकरमेंरहरहेहैं।जागरणकीटीमनेशनिवारकोदोपहरमेंखारकीवमेंफंसेछात्रअदनानसेबातकरकेवहांकेहालातकेबारेमेंजाना।उनकेसाथमेंपांचऔरछात्रथे।उन्होंनेबतायाकिहास्टलमेंपानीकीव्यवस्थानहींहै।लगभग500मीटरदूरसेपीनेकेलिएपानीलानापड़ताहै।चारदिनपहलेबोतलमेंपानीभरकेलाएथे।उसपानीकोहीअबतकवहपीरहेहैं।लगातारहोरहेहमलेकेचलतेबाहरजाकरपानीलानेकीहिम्मतनहींजुटापारहेहैं।ऐसेमेंउनकेसामनेपानीकासबसेबड़ासंकटखड़ाहोगयाहै।

रातमेंखानाबनारहेहैंछात्र

रूसयूक्रेनमेंदिनमेंतेजीसेहमलाकरताहै,लेकिनरातकेसमयबमबारीकमकीजातीहै,लेकिनइसकेबादभीछात्र24घंटेबंकरमेंरहरहेहैं।वहरातकेसमयखानाबनानेकेलिएबंकरसेनिकलतेहैऔरहास्टलमेंपहुंचकरजल्दसेजल्दखानाबनाकरवापसबंकरमेंआजातेहैं।रातमेंबनेहुएखानेकोवहखातेहैं।

पोलैंडपहुंचनेमेंलगेंगे21घंटे

जोछात्रयूक्रेनकेखारकीवमेंफंसेहुएहैवहज्यादापरेशानहैंक्योंकिवहांपरलगातारहमलेकिएजारहेहैं।ऐसेमेंवहांफंसेछात्रसरकारसेमददमांगकररहेहैंकिसबसेपहलेहमेंयहांसेनिकालाजाए।अगरयहांसेछात्रपोलैंडदेशकीसीमापरपहुंचतेहैंतोउन्हें21घंटेकासफरतयकरनाहोगा।

यूक्रेनसेभारतआनेकेलिएनिकलाछात्र

यूक्रेनसेभारतआनेकेलिएजुनावईकाएकछात्रनिकलगयाहै।सम्भलजिलेकेकस्बाजुनावईक्षेत्रकेगांवमैढ़ोलीनिवासीजयकुमारयादवकाबेटासम्राटयूक्रेनमेंफंसाहुआथा,लेकिनवहशनिवारकोबसद्वारापोलैंडकीसीमापरपहुंचनेकेलिएनिकलगयाहै।अबस्वजनकोउम्मीदजगगईहैकिवहजल्दहीउनकेबीचमेंहोगा।हमारीसरकारसेअपीलहैकिहमेंयहांसेजल्दसेजल्ददेशमेंबुलायाजाए।सबसेज्यादाखतराहमारेऊपरहै।क्योंकियहांपरज्यादाहमलेहोरहेहैं।मोहम्मदअदनान,निवासीमदालाफत्तेहपुरसम्भलखारकीवमेंसबसेज्यादाहालातखराबहै।ऐसेमेंसरकारकोहमेंसबसेपहलेयहांसेनिकालनाचाहिए।यहांपरपानीकीभीदिक्कतहोनेलगीहै।अरुवा,निवासीदीपासरायसम्भलरातकेसमयबमबारीकमहोतीहै।इसलिएरातमेंहीखानाबनालेतेहैंऔरखानेकोलेकरबंकरमेंआजातेहैं।शनिवारकोपिछलेदोदिनोंकेमुकाबलेबमबारीकमहुईहै।मोहम्मदआतिब,निवासीमदालाफत्तेहपुरसम्भलयेछात्रहैंफंसेहुए

1.फैसलपुत्रमिजारनिवासीमबईढोल

2.मोहम्मदअदनानपुत्रअसरारअहमद-निवासीमदालाफत्तेहपुर

3.मोहम्मदआतिबपुत्रआसिफहुसैन-निवासीमदालाफत्तेहपुर

4.गुलामबदरूद्दीनपुत्रगुलामसाबिरनिवासीमदालाफत्तेहपुर

5.मोहम्मदसादमानपुत्रमोहम्मदइमरान-निवासीहाजीपुर

6.अरुवाकमरपुत्रमोहम्मदकमर-निवासीदीपासराय

7.मोहम्मदसुहेबपुत्रमुजफ्फरखान-सरायतरीन

8.कैशपुत्रएजाजनिवासीजनेटा

9.मोहम्मदशारिकपुत्रमुशाहिदअली,जनेटा