गुरमति समागम में रागी जत्थों ने शबद- कीर्तन से किया निहाल

संवादसूत्र,चमकौरसाहिब:गुरुद्वाराश्रीकत्लगढ़साहिबमेंसंगतकेसहयोगसेसाहिबजादाजुझारसिंहजीकेप्रकाशदिवसकोसमर्पितकरवाएगुरमतिसमागममेंबड़ीसंख्यामेंसंगतनेमाथाटेका।बाबासंगतसिंहदीवानहालमेंभाईशौकीनसिंहहजूरीरागीश्रीदरबारसाहिब,अमनदीपसिंहहजूरीरागीश्रीदरबारसाहिब,सिमरजीतसिंह,साहिबसिंह,ज्ञानीगुरबाजसिंहऔरगुरप्रीतसिंहहजूरीकेरागीजत्थोंनेसंगतकोकीर्तनऔरगुरमतिविचारोंसेजोड़ा।इसमौकेपरविशेषतौरपरपहुंचेएसजीपीसीकीअंतरिमकमेटीकेमेंबरजत्थेदारअजमेरसिंहखेड़ानेआईसंगतऔरप्रचारकोंकाधन्यवादकिया।इसदौरानमैनेजरभाईभागसिंह,भाईनरिदरसिंह,गुरमेलसिंह,राविदरसिंह,अवतारसिंहघुम्मण,मनोहरसिंहमक्कड़,डा.राजपालचौधरी,जगजीतसिंहप्रधान,समूहमेंबरश्रीगुरुतेगबहादुरसेवजत्थामोतीबागपटियाला,दविदरसिंहप्रधानसेवासोसायटीसरहिद,सेवासोसायटीश्रीफतेहगढ़साहिबकेप्रधानसमेतसमूहमेंबर,बाबाजोरावरसिंहबाबाफतेहसिंहसेवासोसायटीफतेहगढ़साहिबनेभीसमागममेंहाजरीभरी।