गुजरात में फंसे मजदूरों ने मुखिया से लगाई गुहार

सिवान।प्रखंडकेदर्जनोंमजदूरगुजरातमेंफंसेहुएहैं।उनकेसमक्षभोजनकीसमस्याउत्पन्नहोगईहै।इनकीसंख्यापचाससेअधिकहै।इन्होंनेमैरवाप्रखंडकेकबीरपुरमुखियासेमददकीगुहारलगाईहै।उन्होंनेलॉकडाउनकेकारणहोरहीपरेशानीकाउल्लेखकरतेहुएमजदूरोंकीएकसूचीमुखियाकेवाट्सएपपरभेजीहै।किसीतरहगांवबुलालेनेयावहींपरखाने-पीनेकाइंतजामकरादेनेकाअनुरोधकियाहै।यहमजदूरठेकेदारकेमाध्यमसेवहांगएथे।कोरोनामहामारीसेबचावकोलेकरलॉकडाउनलगनेकेबादकामठपहोगया।इनमजदूरोंकाकहनाहैकिवेगुजरातमेंफंसेहुएहैं।वहांखानेपीनेकासामाननहींमिलपारहाहै।भूखेसोनापड़रहाहै।उनकेपासजोभीपैसेथेवहसबखत्महोगएहैं।पैसानहोनेकेकारणबहुतदिक्कतकासामनाकरनापड़रहाहै।ठेकेदारउन्हेंछोड़करभागगयाहै।मजदूरोंनेमुखियाकोभेजेगएअनुरोधपत्रमेंकहाहैकिएकदिनयहांकेमंदिरसेखिचड़ीमिलीथी।लेकिनवहभीबंदहोगया।गुहारलगातेहुएउन्होंनेकहाहैकिआपहमारेलिएकुछकरें।यदिहोसकेतोगांवभिजवादेंयाफिरखाने-पीनेकाइंतजामवहींकरादें।येमजदूरगुजरातकेअहमदाबादस्थितदीनाजीबंजाराकीचालीसाबरमतीपावरहाउसकेनिकटरहतेहैं।मुखियाअशोकप्रजापतिनेइससंदर्भमेंबतायाकिउन्होंनेइनमजदूरोंकेबारेमेंमैरवाबीडीओसेबातकीहै।उन्होंनेजिलाधिकारीसेइसबारेमेंबातकरेंगेकिइनकेलिएक्याकियाजासकताहै।

इन्होंनेलगाईहैमददकीगुहार:

मुखियाकोभेजेगएमजदूरोंकीसूचीमेंउनकानामपिताकानामऔरमोबाइलनंबरअंकितहै।इनमेंमुसाफिरयादव,जयरामयादव,श्रीकृष्णयादव,कमलेशयादव,अवधेशभगत,शैलेंद्रप्रसाद,बलिदरप्रसाद,रजनीशसिंह,बृजेशकुमार,भोलासाह,चंदनकुमारसिंह,रमेशसिंह,मोहम्मदसिराज,राजासिंह,हरिसिंहचौहान,नीरजकुमार,विजययादव,अजययादव,संदीपयादव,ओसियरयादव,नसीरुद्दीनआलम,बबलूरावत,राजूसिंह,संदीपसिंह,तमीमखान,गुड्डूचौधरी,चंदनप्रसाद,रामप्रीत,अंगदराजभर,शैलेंद्रसिंह,विशुनदयालसिंह,योगेंद्रसिंह,सत्येंद्रसिंह,रवींद्रसिंह,रामाकांतयादव,रवींद्रसाह,पृथ्वीनाथचौधरी,मोगलचौधरी,सुनीलचौधरी,हरिदरप्रसाद,दीनानाथराजभर,मुकेशप्रसाद,रामनरेशप्रहलादप्रजापति,मोहम्मदमहबूब,राजाराजभर,संदीपभगत,धर्मेंद्रराजभर,शैलेंद्रराजभर,सत्येंद्र,सुरेशयादव,जयरामयादव,खुशीराम,भृगुनाथराजभर,बिजलीयादव,शुभमकुमार,विकेशकुमार,चंदनकुमार,विक्रमकुमारकानामशामिलहैं।