गर्मी ने तोड़ा 10 साल का रिकॉर्ड, रेत के टीले दिखने लगे; जलीय जीवों पर संकट

यूपीमेंगर्मीकातेवरचढ़नेलगाहै।काशीमेंगर्मीने10सालकारिकॉर्डतोड़दियाहै।हालातयहहैकिगंगामहीनेभरपहलेहीसूखनेलगीहै।विकरालगर्मीसेगंगाकेइकोसिस्टमपरखतरामंडरारहाहै।इसबारलूवालीगर्मीकीशुरुआत10-15दिनपहलेहीहोगईहै,जिसकाअसरगंगामेंभीदिखाईदेरहाहै।पानीकमहोजानेसेजगह-जगहपररेतकेटीलेदिखनेलगेहैं।अमूमनयेरेतकेटीलेअप्रैलकेअंतयामईतकदेखेजातेथे।वहींघाटकीसीढ़ियोंसेतकरीबनएकमीटरकीदूरीपरगंगानदीजाचुकीहै।

वाराणसीमेंगर्मीनेतोड़ादससालकारिकार्ड

वाराणसीमेंबुधवारदोपहरतेजहवानेलूकारूपलेलिया।दोपहरमेंहवाकीगति24किलोमीटरकेआस-पासरही।वाराणसीकाअधिकतमतापमान41.2°Cपरआचुकाहै।यानीकिहीटवेवशुरूहोगईहै।पिछले10सालमेंतीसरीबारमार्चमेंइतनातापमानगयाहै।मगर,जबभीतापमानबढ़ाउसदौरानहल्की-फुल्कीबारिशहोजातीथी।

पानीकमहोगातोऑक्सीजनकीकमीसेजलीयजीवमरेंगे

BHUकेवरिष्ठगंगावैज्ञानिकप्रो.बीडीत्रिपाठीकाकहनाहैकिरेतऐसेहीउभरतेरहेतोमई-जूनआते-आतेकाफीहिस्सारेतमेंबदलजाएगाऔरगंगाकाफीसूखजाएगी।इससेनुकसानयहहैकिगंगाकेजलीयजीवोंकीमौतहोसकतीहै।

पानीनहोनेसेमछलियोंऔरकछुओंकोऑक्सीजननहींमिलेगी।क्योंकिपानीकमहोताहैतोउसकीबायोकेमिकलऑक्सीजनडिमांड(BOD)काफीहाईहोजाएगी।मतलब,जलीयजीवोंकेलिएपर्याप्तऑक्सीजनपानीमेंबचेगानहीं।पानीमेंऑक्सीजनकीमात्राकमहोनेसेभीजलीयजीवोंकीमौतहोसकतीहै।साथहीपानीकमहोनेसेगंगामेंप्रदूषिततत्वोंकीमात्रामेंइजाफाहोसकताहै।

BODऔरDOहैठीक

मंगलवारकोमिलीगंगाजलजांचरिपोर्टकेअनुसार,गंगाअपस्ट्रीममेंघुलनशीलऑक्सीजन(DO)कीमात्रा8.5मिलीग्रामप्रतिलीटरऔरडाउनस्ट्रीममें7.6मिलीग्रामप्रतिलीटरहै।PHमान8.43दर्जकियागयाहै।इसकेअलावाBODअपस्ट्रीममेंBOD2.2मिलीग्रामप्रतिलीटरऔरडाउनस्ट्रीममें3.4मिलीग्रामप्रतिलीटरदर्जकियागया।वहीं,बीतेसप्ताहगंगामेंवाराणसीकेआसपासBOD3.6मिलीग्रामप्रतिलीटरथी।

राज्यप्रदूषणनियंत्रणबोर्डकेक्षेत्रीयअधिकारीकालिकासिंहकाकहनाहैकिगंगामेंनहानेकेलिहाजसेयेआंकड़ेअभीपानीकोसुरक्षितबतारहेहैं।DO6-9मिलीग्रामप्रतिलीटरऔरBOD3मिलीग्रामप्रतिलीटरहोनाचाहिए।उन्होंनेबतायाकिइंसानोंकेइस्तेमालकेलिएयहपानीअभीठीकहै,मगरपानीकाबहावकमहोनेऔररेतबननेसेऑक्सीजनकीकमीआगेहोगी।इससेजलीयजीवोंकेजीवनपरबुराअसरपड़सकताहै।

जीवनचक्रहोसकताहैअसंतुलित

प्रो.बीडीत्रिपाठीनेबतायाकिगर्मीकेदिनइसबारहरसालसेकुछज्यादादिनहोसकतेहैं।जोपरिवर्तनगंगामेंअप्रैलऔरमईमेंदिखनेथे,वेअभीहीदिखरहेहैंतोइसकामतलबहालातठीकनहींहै।जोगंगामेंजीवनचक्रअसंतुलितहोसकताहै।पानीकाबहावबेहदकमहोचुकाहै,ऐसेमेंगंदगीकीसमस्यागंगामेंअबफिरसेदेखीजाएगी।गंगाकावाटरलेवल59.29मीटरहै।इसकेसाथहीगंगाकीविविधतापूर्णजलीयजीवनकोखासानुकसानपहुंचसकताहै।

उन्होंनेकहाकिगंगाकेपानीकोजहां-जहांभीबड़ेकैनालोंसेगुजाराजारहाहैउसेरोकदियाजाए।हरिद्वारऔरगंगानहरोंमेंपानीकेचलेजानेसेगंगाकाहालबेहददयनीयहोताचलाजारहाहै।राज्यप्रदूषणनियंत्रणबोर्डकेक्षेत्रीयअधिकारीनेकहाकिरूटीनकार्यकेतहतगंगाकेपानीकासैंपललेकरहमेशाBODकीजांचकीजाएगी।