गंगाजल दिलाएगा 'बहुत कठिन डगर पनघट' से मुक्ति

जागरणटीम,आगरा।यूंतोविधानसभाक्षेत्रकेअंतर्गत311गावोंमेंसेअधिकाशमेंलोगखारेवफ्लोराइडयुक्तपानीकीसमस्यासेजूझरहेहैंलेकिनइनमेंसेराजस्थानकीसीमासेसटेदर्जनोंगावोंकेहालातविकरालहैं।यहांगंगाजलपहुंचजाएतोउनमहिलाओंकोतोपनघटकीउसकठिनडगरसेमुक्तिमिलजाएगीजोदो-तीनकिलोमीटरदूरसेपानीभरकरप्रतिदिनलातीहैं।साथहीदिव्यांगताकेकगारपरपहुंचरहेचालीससेअधिकबढ़तीउम्रकेलोगोंकोभीनयाजीवनमिलसकेगा।

प्रधानमंत्रीजलशक्तिमिशनकेअंतर्गतमुगलकालीनराजधानीरहीफतेहपुरसीकरीकेसासदराजकुमारचाहरकेगंगाजललानेकेयेभागीरथीप्रयासअगरसफलहुएतोवाकईकईइलाकोंकीमहिलाओंकेलियहकिसीउपहारसेकमनहींहोगा,जोभीषणगर्मीमेंदूरदराजसेअपनीगगरीमेंइतनापानीभरकरनहींलापातीं,जितनाउनकेशरीरसेपसीनानिकलजाताहै।फतेहपुरसीकरीकीसीमासेजुड़ेऐसेकईगांवहैंजहांपानीकेलिएसुबहसेहीप्रयत्‍‌नशुरूहोजातेहैं।कोईसिरपररखकरतोकोईसाइकिलयाअन्यवाहनसेपानीलेकरआतेहुएदिखजातेहैं।क्षेत्रकेकईइलाकोंमेंभूगर्भजलस्तरकाफीनीचेपहुंचचुकाहै।पिछलेदिनोंफतेहपुरसीकरीके42गांवोंकीसमस्याकोसांसदराजकुमारचाहरनेलोकसभामेंभीउठायाथा।इनगांवोंमेंविकरालपेयजलसंकट

खेड़ाभोपुर,जौताना,नगलासराय,डाबर,सराय,सिरोली,ओलेंडा,खेड़ाजाट,भोपुर,नगलाबले,सामरा,दाउदपुर,उत्तू,सौनोठी,बंदरोली,पाली,पतसाल,हंसेला,मंडोली,सूरोठी,व्यारा,अरदाया,कचौरा,रायभा,कठवारी,गोपऊ,महुअर,साथा,बहरावती,भड़कोल,बाकंदा,खेड़ा,जैंगारा।

मुगलोंनेछोड़दीथीफतेहपुरसीकरी

मुगलवंशजफतेहपुरसीकरीक्षेत्रकीपेयजलसमस्यासेपरेशानरहे।विकरालपेयजलसंकटकेचलतेउन्होंनेफतेहपुरसीकरीछोड़दीथी।वेयहांसेपलायनकरगएथे।

हमारेगावकेमहिलावपुरुषसुबहहोनेकेसाथहीपानीकेलिएनिकलपड़तेहैं।राजस्थानकेपड़ोसीगांवोंसेपानीलाकरप्यासबुझानीपड़रहीहै।

चौधरीबनवारीलाल,निवासीनगलासरायसुबहजल्दीउठकरदोसेतीनकिलोमीटरदूरनिजीनलकूपसेपानीलातेहैं।नलकूपस्वामीभीड़देखकरभगादेताहैलेकिनपीनेकापानीतोलानाहीहै।

गोरेलाल,निवासीमंगोलीकलांखारेपानीकेकारणगावकेहैंडपंपसेदैनिकउपभोगकापानीमिलपाताहै।पीनेकापानीखेतमेंदूरबनेनलकूपसेभरकरलायाजाताहै।

होलापहलवान,निवासीदुल्हारागावमेंखारेपानीसेदूधफटजाताहै,चायबनतीनहींहै।खेतोंमेंबनेनलकूपोंसेमीठापानीलेकरआतेहैं।गंगाजलमिलनेसेहमारेकष्टदूरहोजाएंगे।

राजेंद्रशर्मा,निवासीडाबर