गांवों में विकास की चली बयार फिर भी अधूरे रह गए अरमान

जागरणसंवाददाता,रामपुर(जौनपुर):विकासखंडरामनगरकेअधिकांशगांवोंमेंविकासकार्यतोहुए,लेकिनकुंभापुरगांवकेलोगसरकारकीमहत्वाकांक्षीयोजनाओंकेलाभसेवंचितहैं।पांचसालतकगांवकेविकासकेलिएयोजनाओंकीबयारचली,लेकिनधनअवमुक्तहोनेकेबादभीयहांकामनहींहुआ।खातेमेंधनहोनेकेपश्चातभीपंचायतभवनकानिर्माणनहींहोसका।वहींअधिकांशपात्रवृद्धा,विधवा,दिव्यांगपेंशनवआवासकेलाभसेवंचितहैं।आजभीगांवकेलोगजलनिकासीकीसमस्यासेजूझरहेहैंवहींकईबस्तियोंमेंआवागमनकेसाधननहींहैं।इसीगांवकेअंतर्गतराजस्वगांवभगवानपुरकेमुसहरबस्तीकीहालतबदसेभीबदतरहै।आलमयहहैकिअधिकांशअधूरेआवासशासनवजिलाप्रशासनकेदावेकीकलईखोलरहेहैं।कुंभापुरग्रामसभाकेभगवानपुरमुसहरबस्तीकेलोगोंनेबतायाकिगांवकेकुछदबंगोंकेचलतेनिवर्तमानप्रधानअक्सरगांवसेबाहररहीं।उनकेनरहनेसेविकासकार्यनहींहोसके।गांवकेनिवासीराजनाथपाठककाकहनाहैप्रधानचुनावजितनेकेपांचमाहबादसेहीगांवसेबाहररहीं,जिसकेकारणगांवकीप्रमुखसमस्याजलनिकासीवगांवमेंकईसंपर्कमार्गअधूरेरहगए।संतोषीमुसहरकाकहनाहैकिहमारीबस्तीमेंविकासकेनामपरखानापूर्तिकीगई।मानककोदरकिनारकरआधेअधूरेआवासबनेहैं।मत्था

4000-कुंभापुरकीकुलआबादी

1700-गांवमेंकुलमतदातागांवकीचौहद्दी..

पूरबगोपालापुर,पश्चिमजोगापुर,उत्तररायपुलऔरदक्षिणसिरौलीगांवहै।साजिशकातहतमेरेबड़ेबेटेकोगांवकेकुछलोगोंनेजेलभिजवादिया।इसीकारणमैंगांवमेंकमरहतीथी।गांवकाविकासनहोनेसेहमेंभीअफसोसहै।

-निर्मलादेवी,निवर्तमानग्रामप्रधान।