एक साथ उठी तीन बेटियों की अर्थी, रो पड़ा पूरा समाज

गिरिडीह:शहरसेमात्रचारकिलोमीटरदूरमंगरोडीहगांवहै।मंगलवारकोपूरागांवमहापर्वछठकेउल्लासमेंडूबाहुआथा।खरनाकीतैयारीचलरहीथी।छठकेगीतोंसेपूराइलाकागूंजरहाथा।इसीबीचएकऐसाहादसाहुआकिखुशीऔरउल्लासकायहमाहौलमातममेंबदलगया।चारोंओरमहिलाओंकेक्रंदनसुनाईपड़नेलगे।यहांछठपर्वकेलिएसूप-डालीधोनेगईमहिलाओंकेसाथगएचारबच्चोंकीउसरीनदीमेंडूबनेसेमौतहोगई।

चारोंशवोंकोनदीसेनिकालकरघरलायागया।मृतकोंमेंमदनसिंहकीदसवर्षीयबेटीसुहानाकुमारी,मदनसिंहकेभाईटिंकूसिंहकीनौसालकीबेटीसोनाक्षीकुमारी,महेशसिंहका12वर्षीयपुत्रमुन्नाकुमारएवंश्यामसिंहकी12वर्षीयनतिनीदीक्षाकुमारीशामिलहैं।दीक्षाबोकारोकेनावाडीहकीरहनेवालीथी।वहअजयशर्माकीबेटीथी।

मदनसिंहकेआंगनमेंतीनबेटियोंकाशवरखागयाथा।यहांदीक्षाकेपिताअजयशर्मावउनकेस्वजनोंकेआनेकाइंतजारहोरहाथा।अजयशर्माकेआनेकेबादशामकोतीनोंबेटियोंकाशवएकसाथउठा।तीनोंशवोंकेउठनेकेसाथहीपूराइलाकारोपड़ाथा।महिलाओंकेआंसूरूकनेकेनामनहींलेरहेथे।अपनेबच्चोंकोखोनेवालीमांकोशांतकरानेजारहीमहिलाएंखुदरोनेलगीथी।इधरमहेशसिंहके12वर्षीयपुत्रमुन्नाकुमारकेपार्थिवशरीरकोअंतिमसंस्कारकेलिएस्वजनइसकेपहलेहीनिकलचुकेथे।नदीकिनारेचारोंशवोंकाअंतिमसंस्कारकरदियागया।झामुमोजिलाध्यक्षसंजयसिंह,पूर्वविधायकनिर्भयकुमारशाहाबादी,डिप्टीमेयरप्रकाशसेठ,भाजपानेतानिर्भयसिंह,झामुमोनेतागौरवकुमारस्वजनोंकोसांत्वनादेरहेथे।इधरस्वजनोंनेमुफस्सिलथानापुलिसकोघटनाकीलिखितजानकारीदीहै।घटनाकोएकहादसाबतायाहै।किसीपरकोईआरोपनहींलगायाहै।