दिसंबर के बाद से गंगा में बनी रहेगी अविरल धारा, केंद्र सरकार ने पानी छोड़ने का दिया आदेश

नईदिल्ली,पीटीआइ।गंगानदी(RiverGanga)में15दिसंबरकेबादसेअविरलधाराबनीरहेगी।केंद्रसरकारनेगंगानदीपरबनीजलविद्युत(Hydropower)औरसिंचाईपरियोजनाओं(IrrigationProjec)कोनिर्देशजारीकरनदीमेंन्यूनतमपानीऔरअविरलप्रवाहकोसुनिश्चितकरनेकोकहाहै।

इससंबंधमेंपिछलेमहीनेजारीअधिसूचनामेंअनिवार्यपर्यावरणीयप्रवाहकाअनुपालनकरनेकेलिएपहलेदिएगएसमयकोभीघटाकरआधाकरदियागयाहै।राष्ट्रीयस्वच्छगंगामिशन(एनएमसीजी)नेपिछलेसालअक्टूबरमेंएकअधिसूचनाजारीकीथी।इसमेंजलविद्युतऔरसिंचाईपरियोजनाओंकोगंगामेंन्यूनतमपानीऔरपर्यावरणीयप्रवाहसुनिश्चितकरनेकेलिएतीनसालकासमयदियागयाथा।इसकेलिएकंट्रोलगेटऔरढांचागतसुधारकरनेकेलिएभीकहागयाथा।

विद्युतपरियोजनाओंकेकारणप्रवाहपरअसर

गंगाकोबचानेकेलिएकामकरनेवालेकार्यकर्ताओंकीमांगपरयहअधिसूचनाजारीकीगईथी।कार्यकर्ताओंकाकहनाथाकिसिंचाईऔरजलविद्युतपरियोजनाओंकेचलतेगंगामेंअनिवार्यपर्यावरणीयप्रवाहबाधितहोरहाहै।पर्यावरणीयप्रवाहकाआशयजलप्रवाहकीमात्रा,समयऔरगुणवत्तासेहैजोमीठेपानीवनदीकेमुहानेसेसंबद्धपारिस्थितिकतंत्र(इकोसिस्टम)औरमानवआजीविकाकोबनाएरखनेकेलिएआवश्यकहै।

गंगानदीपरकुल11बड़ीपरियोजनाएं

उत्तराखंडसेलेकरउत्तरप्रदेशतकगंगानदीपरकुल11बड़ीपरियोजनाएंहैंजिनसेगंगाकीअविरलताबाधितहोरहीहै।एनएमसीजीनेइनसभीपरियोजनाओंसेआवश्यकमात्रामेंपानीछोड़नेकेलिएकहाहै,ताकिनदीमेंन्यूनतमपानीकीमात्राबनीरहे।

हरतीनमहीनेमेंएनएमसीजीकोरिपोर्ट

एनएमसीजीकेमहानिदेशकराजीवरंजनमिश्रनेकहाकिकेंद्रीयजलआयोग(सीडब्ल्यूसी)नेजुलाईमेंप्रस्तुतअपनीरिपोर्टमेंसुझावदियाथाकिसभीमौजूदापरियोजनाओंमेंअनिवार्यपर्यावरणीयप्रवाहकेलिएपानीछोड़नेकीव्यवस्थाहोनीचाहिए।आयोगगंगानदीकीअविरलतापरनजररखताहैऔरहरतीनमहीनेमेंएनएमसीजीकोरिपोर्टदेताहै।