धूमधाम से मनाया बाबा बंदा सिंह बहादुर का जन्मदिवस

जागरणसंवाददाता,राजौरी:गुरुगोबिदसिंहजीकेछोटेसाहिबजादोंकीशहादतकाबदलालेनेवालेसिखजरनैलबाबाबंदासिंहबहादुरकाबुधवारकोसिखइतिहासमेंपहलीबारउनकेजन्मस्थानपरयादगारगुरुद्वाराबाबाबंदासिंहबहादुरराजौरीमेंजन्मदिवसश्रद्धाऔरउत्साहकेसाथमनायागया।सीमावर्तीजिलाराजौरीवपुंछसेआईसंगतसहितदेशकेअन्यराज्योंसेआएलोगोंनेगुरुद्वारासाहिबमेंमाथाटेकप्रसादग्रहणकिया।

बाबाबंदासिंहबहादुरकेजन्मउत्सवपरविशेषलंगरप्रसादकाआयोजनकियागया,जिसमेंहजारोंकीसंख्यामेंसंगतनेलंगरप्रसादग्रहणकिया।इसमौकेपरश्रीअकालतख्तसाहिबजत्थेदारवसावकाजत्थेदारबाबाबचनसिंह,बाबाबीराजीमुख्यतौरपरउपस्थितथे।साथहीपूर्वएमएलसीविबोधगुप्ता,पूर्वअध्यक्षछठीपातशाहीगुरुद्वाराराजौरीनिर्माणसिंह,भूपेंद्रसिंह,जसबीरसिंह,सेनाअधिकारीवप्रशासनिकअधिकारियोंनेगुरुद्वारेमेंमाथाटेका।

गतदिवसबाबाबंदासिंहबहादुरकेजन्मउत्सवपरविशेषमहानगरकीर्तननिकालागयाथा।वहीं,बुधवारकोबाबाबंदासिंहबहादुरगुरुद्वाराराजौरीमेंदीवानसजायागया।श्रीगुरुग्रंथसाहिबकाअखंडपाठकाभोगलगायागया।बाबाजीकीयादमेंउनकेजन्मस्थानराजौरीमिनीस्टेडियमकेपासयादगारगुरुद्वारामनायागयाऔरपहलीबारजन्मस्थानपरजन्मउत्सवमनायागया।बाबाबंदासिंहबहादुरकाबचपनकानामलक्ष्मणदासऔरदूसरानाममाधोदासथा।वहएकमहानयोद्धाथे।उनकीबहादुरीकोदेखउनकानामबाबाबंदासिंहबहादुररखागया।प्रचारकनेकहाकिबाबाजीकाजीवनसभीकेलिएप्रेरणास्रोतहै।उन्होंनेगुरुगोबिंदसिंहकेबचनोंकोअपनेमनऔरक्रममेंबसालिया।हरधर्मकेगरीबलोगोंवकिसानोंकोन्यायमिला।वहखुदकोशासनकासिर्फएकसाझीदारमानतेथे।हमसभीकोउनकेबताएमार्गपरचलनाचाहिए।