देश की सुरक्षा के लिए जरूरी सीएए है एनआरसी

जागरणसंवाददाता,रुड़की:देशकीसुरक्षाएवंअखंडताकेलिएसीएएऔरएनआरसीलागूकरनाबेहदजरूरीहै।साथहीसरकारनेतीनोंसेनाओंमेंआपसीसमन्वयकेलिएजोकदमउठायाहै,वहभीसराहनीयहै।

रविवारकोरुड़कीबसअड्डेकेसमीपसैनिकसमाजपार्टीकेकार्यालयपरआयोजितबैठकमेंपूर्वसैनिकगबरसिंहरावतनेकहाकिसीएएऔरएनआरसीकोईनईचीजनहींहै।आजादीकेबादसेहीइसपरविचारचलरहाथा।उन्होंनेकहाकिआजदेशकोघुसपैठियोंसेसबसेअधिकखतराहै।कहाकिएनआरसीकीमांगकोलेकरअसममेंबड़ाआंदोलनचला,जोलोगइसकाविरोधकररहेहैंवहगलतहै।पूर्वसैनिकदौलतसिंहनेकहाकिभारतसरकारनेतीनोंसेनामेंसमन्वयकेलिएसीडीएसकीस्थापनाकरसराहनीयकार्यकियाहै।1962,1965,1971और1999केयुद्धमेंइसबातकीआवश्यकतामहसूसकीगईथी।सेनाकेबीचआपसीसमन्वयबेहदजरूरीहै।इसमौकेपरइंदरपालसिंह,सुरेशकुमार,विरेंद्रराठी,मिथलेशसैनी,प्रभाकरपंत,वेदप्रकाश,मोहनसिंह,जसपालसिंह,सुनीलनेगीआदिमौजूदरहे।