देश के विकास में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का इस्तेमाल करेगी सरकार, पीएम आज करेंगे सम्‍मेलन का उद्घाटन

जागरणब्यूरो,नईदिल्ली।देशकेसमग्रविकासखासकरसामाजिकक्षेत्रोंमेंआर्टिफिशियलइंटेलीजेंस(एआइ)केइस्तेमालपरसरकारखासाजोरदेनेजारहीहै।इसदिशामेंप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीसोमवारकोहोनेजारहेसम्मेलन-रेज2020(रिस्पांस्बिलएआइफॉरसोशलइंपावरमेंट)काउद्घाटनकरेंगे।इससम्मेलनकाआयोजनइलेक्ट्रॉनिक्स,आइटीमंत्रालयएवंनीतिआयोगमिलकरकररहेहैंजिसमेंविभिन्नदेशोंकेप्रतिनिधिहिस्सालेंगे।वर्चुअलतरीकेसेहोनेवालेइससम्मेलनकाआयोजनपांचसे-नौअक्टूबरतककियाजाएगा।

कईक्षेत्रोंमेंबढ़ेगाएआइकायोगदान

सरकारमुख्यरूपसेस्वास्थ्य,कृषि,शिक्षाएवंस्मार्टमोबिलिटीजैसेक्षेत्रोंमेंएआइकेयोगदानकोबढ़ानाचाहतीहै।सरकारचाहतीहैकिभारतएआइकेक्षेत्रमेंविश्वकानेतृत्वकरे,इसलिएसामाजिकक्षेत्रोंकेविकासमेंएआइकेइस्तेमालकामॉडलभारतविश्वकेसामनेपेशकरनाचाहताहै।सम्मेलनकेदौरानकोरोनामहामारीसेबचनेकेलिएएआइकेइस्तेमालपरभीचर्चाकीजाएगी।

आर्टिफिशियलइंटेलिजेंसमेंभारतकीस्थिति

2019-2025तकभारत39%कंपाउंडएन्युअलग्रोथ(CAGR)दर्जकरतेहुएआर्टिफिशियलइंटेलिजें पर11,781मिलियनडॉलरसस्पेंडकरेगा।अगरप्राइवेटइंडस्ट्रीज़कीबातकरेंतोगूगलनेभारतमेंडिजिटाइजेशनकेलिए10बिलियनडॉलरकाफंडदियाहै।वहीं,फेसबुक5.7बिलियनडॉलरJioमेंइन्वेस्टकररहाहै।भारतमेंइनदिनोंचालीसलाखसॉफ्टवेयरडेवलपर्सहैंऔर2024तकहमविश्वकेसबसेज़्यादासॉफ्टवेयरडेवलपर्सवालेदेशहोजाएंगे।AIएडॉप्टकरइसपरकामकरनेवालेडेवलपर्सकीसंख्याबहुततेजीसेबढ़ीहै।