देश के लिए बलिदान हुआ सिरसा का जवान निशान सिंह, दो महीने पहले हुई शादी, पहुंचा पार्थिव शरीर

जागरणसंवाददाता,सिरसा:देशकीरक्षाकेलिएसिरसाजिलाकेगांवभावदीननिवासी27वर्षीयजवाननिशानसिंहनेअपनाबलिदानदेदिया।अनंतनागमेंआतंकवादियोंसेएनकाउंटरकेदौरानशनिवारकोजवाननिशानसिंहवीरगतिकोप्राप्तहोगया।उसकेपार्थिवशरीरकोवायुमार्गसेबठिंडालायागयाहै।वहांसेदोपहरबादकरीब4बजेउनकापार्थिवशरीरउनकेपैतृकगांवभावदीनमेंलायागया।उनकेपार्थिवशरीरकेसाथलंबाकाफिलादेखनेकोमिला।हरतरफभारतमाताकीजयकेनारेगूंजरहेथे।

आर्मीकीगाड़ीमेंउनकेपार्थिवशरीरकेसाथसेनाकेजवानभीपहुंचे।पार्थिवशरीरकेआनेकीसूचनापाकरपहलेहीलोगएकत्रहोगएथेऔरउनकेआनेकाइंतजारकररहेथे।महजदोमहीनेशादीऔरअबमांगकासिंदूरउजड़नेसेउनकीपत्‍नीभीहोशखोबैठींहैं।वहींमांऔरपरिवारकेअन्‍यसदस्‍योंकाभीरोरोकरबुराहालहै।

दोमहीनेपहलेहुईथीशादी

करीब27वर्षीयनिशानसिंहवर्ष2013मेंभारतीयसेनामेंभर्तीहुआथा।वह19राष्ट्रीयराइफलकाजवानथा।दोभाईवतीनबहनोंमेंनिशानसिंहसबसेबड़ाथा।उसकेपितासेवासिंहपशुअस्पतालमेंसेवारतथेऔरअबरिटायर्डहोचुकेहैं।दोमहीनेपहलेहीनिशानसिंहकीशादीहुईथी।स्वजनोंकेमुताबिककरीब15दिनपहलेहीनिशानसिंहडयूटीपरवापसअनंतनागगयाथा।गांवनिवासीसुरजीतसिंहनेबतायाकिनिशानसिंहबड़ाहीहोनहारयुवकथा।देशकेलिएकुछकरगुजरनेकाजज्बारखताथा।किसीनेभीनहींसोचाथाकि15दिनपहलेदूल्हाबनेनिशानसिंहकाशवतिरंगेमेंलिपटाघरपहुंचेगा।

बाददोपहरहोगाअंतिमसंस्कार

बलिदानीनिशानसिंहकाअंतिमसंस्कारदोपहरदोबजेकेबादउसकेगांवभावदीनकियाजारहाहै।जिलाप्रशासनद्वाराराजकीयसम्मानकेसाथअंतिमसंस्कारकियाजारहाहै।वहींनिशानसिंहकेबलिदानहोनेकासमाचारमिलतेहीआसपासकेगांवोंसेयुवाभावदीनगांवमेंपहुंचनेशुरूहोगए।उधरबलिदानीनिशानसिंहकेघरमातमपसराहुआथाऔरस्वजनोंकारोरोकरबुराहालथा।