ड्यूटी पर शहीद हुए जवान का नम आंखों से किया अंतिम संस्कार

संवादसहयोगी,टांडा:लेहलद्दाखमेंड्यूटीकेदौरानशहीदहुएटांडाकेगांवजहूराकेफौजीजवानबलजिद्रसिंहकारविवारकोसैकड़ोंनमआंखोंकीमौजूदगीमेंसम्मानकेसाथअंतिमसंस्कारकियागया।2सिखलाईकेहवलदारबलजिद्रसिंहपुत्रलेटगुरबचनसिंह17जनवरीकोअचानकड्यूटीदौरानसख्तबीमारहोगएऔरशहीदहोगए।दोपहरजबशहीदकापार्थिवशरीरघरपहुंचातोगांवमेंमातमकामाहौलथा।गांवकेश्मशानघाटमेंसरकारीफौजीसम्मानकेसाथशहीदकाअंतिमसंस्कारकियागया।इसदौरानफौजकीटुकड़ीनेशहीदकोसलामीदी।वहींशहीदफौजीकोमुख्यमंत्रीकेराजनीतिकसलाहकारविधायकसंगतसिंहगिलजियां,एडीसीहरप्रीतसूदन,एसडीएमज्योतिबालामट्टूऔरफौजकेअधिकारियोंनेशहीदकोफूलमालाअर्पितकरश्रद्धांजलिदी।इसमौकेविधायकगिलजियांनेशहीदकोश्रद्धांजलिअर्पितकरतेकहाकिसरकारकीऔरसेशहीदकेपरिवारकोपांचलाखकीमदद,पांचलाखकाप्लाट,माताकोदोलाखरुपयेऔरपरिवारकेएकसदस्यकोसरकारीनौकरीदीजाएगी।शहीदअपनेपीछेमाताकुंतीदेवी,पत्नीप्रदीपकौर,चारवर्षीयदोजुड़वांबेटेछोड़गया।इसमौकेजिलासैनिकभलाईअफसर,नायबतहसीलदारओंकारसिंह,सरपंचअश्वनीकुमार,राकेशवोहरा,अवतारसिंहखोखर,पुष्पिंदरसिंह,सरपंचहरभजनसिंहकल्याणपुर,शालू,पवनकुमार,कैप्टननरेशकुमार,सूबेदारसुखवीरसिंह,पृथ्वीपालसिंहऔरगांवकेलोगमौजूदथे।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!