डेयरी से भी किसान हो सकते अत्मनिर्भर

पाकुड़:सदरप्रखंडकार्यालयपरिसरस्थितएसबीआइग्रामीणस्वरोजगारप्रशिक्षणसंस्थान(आरसेटी)मेंबुधवारकीदेरशामडेयरीव्यवसायकोलेकरएकदिवसीयकार्यशालाहुई।द्घाटनअग्रणीबैंककेजिलाप्रबंधकविकासकुमारसिंह,नाबार्डकेजिलाविकासप्रबंधकनेयाजईशरत,एसबीआइमुख्यशाखाप्रबंधकअलखनिरंजनचौधरीवजिलागव्यविकासपदाधिकारीधर्मेद्रविद्यार्थीनेकिया।एलडीएमनेकहाकिडेयरीकेमाध्यमसेकिसानआत्मनिर्भरहोसकतेहैं।लोगोंमेंसरकारकेजनकल्याणकारीयोजनाओंकेप्रतिजागरूकताकीकमीहै।इसकारणलोगसरकारकीओरसेचलाईजारहीयोजनाओंकालाभनहींलेपारहेहै।बैंककेअधिकारियोंसेउन्होंनेअपीलकीकिभारतसरकारऐसीयोजनाओंकेलिएकिसानोंकोसब्सिडीकालाभदेतीहैं।नाबार्डजिलाविकासप्रबंधकनेपीपीटीप्रेजेंटेशनद्वारासब्सिडीस्किमकेसंबंधमेंजानकारीदी।कहाकिपाकुड़जिलेकेडेयरीविकासकीअपारसंभावनाएंहैं।उन्होंनेबैंकोंसेकहाकिउपरोक्तयोजनाओंकेअंतर्गतऋणसेअधिकसेअधिककिसानोंकोजोड़नेकाप्रयासकरें।ताकिजिलेमेंकृषिसंबधीऋणकाविस्तारहोसके।जिलेकासीडीअनुपातबढ़ायाजासके।केंद्रसरकारकीकिसानोंकीआय2022तकदोगुनीकरनेकीयोजनाकोप्राप्तकरनेमेंयोगदानदियाजासके।कार्यक्रममेंनिदेशकजेकेदत्ता,मुख्यप्रबंधक,सभीबैंकोकेशाखाप्रबंधक,नीतिआयोगकेजिलावित्तीयसमन्वयक,अमितकुमारव‌र्द्धन,बापीदास,वाहेदअलीवअन्यलोगमौजूदथे।