दामोदर वैली---- चलो बुलावा आया है माता ने बुलाया है.....

संवादसूत्र,भुरकुंडा:भुरकुंडाबाजारखपड़ियाबाबाधर्मशालामेंगुरुवारकीरात्रिभव्यरूपसेमांभगवतीजागरणकाआयोजनहुआ।श्रीदुर्गापूजाकेअवसरपरआयोजितजागरणकाशुभारंभमांदुर्गाकेचित्रकेसामनेज्योतजलाकरपूजा-अर्चनासेहुई।इसकेबादगणेशवंदनाकेसाथभजनगीतोंकेसिलसिलाशुरूहुआ।जागरणमेंविनयमिश्राजागरणग्रुपकीओरसेएकसेबढ़करएकभक्तिगीतोंकीप्रस्तुतिकरपूरीरातमेंसमांबांधेरखा।चलोबुलावाआयाहैमातानेबुलायाहै....जबजबरामपेविपदाआईहै....आदिभक्तिगीतोंपरश्रोताभक्तजनझूमउठे।भगवतीजागरणमेंगायकसरोजसिंहलक्खा,श्वेतासिंह,पानबनारसीआदिगायकोंनेएकसेबढ़करएकभक्तिगीतोंकीप्रस्तुतिकी।जबकिविभिन्नवाद्ययंत्रोंपरछोटू,श्याम,ललू,प्रीथू,विजयआदिनेभरपूरसाथदिया।मांभगवतीजागरणकाशुक्रवारकीसुबहमांताराकीरानीकथाऔरप्रसादवितरणकेसाथसमापनहुआ।जागरणकोसफलबनानेमेंराजेंद्रसिंह,बाबूलालनायक,राजेशअग्रवाल,उज्जवलउपाध्याय,प्रिससिंह,राजेंद्रसिंह,सुदर्शनप्रसाद,दिनेशप्रसाद,संजीवरबानी,मोनूसिंह,विक्कीगुप्ताकुल्लूपांडेआदिनेयोगदानदिया।