चुनावी समीकरण सुलझाने में सक्रिय दिख रही राजनीतिक दलों की भूमिका

जमुई।एकसफललोकतंत्रकीसंकल्पनाकोसाकारकरनेएवंजनप्रतिनिधियोंकेजरिएग्रामीणक्षेत्रोंमेंविकासकोनयाआयामदेनेकेलिएमतदाताओंकोजागरूकहोनाआवश्यकहै।जिलेमेंपंचायतचुनावकीप्रक्रियाप्रारंभहोतेहीघरकेआंगनसेलेकरगांवकीचौपालतकचुनावीरंगमेंरंगचुकीहै।

लोकसभाएवंविधानसभाचुनावसेकहींज्यादादिलचस्पीग्रामीणक्षेत्रोंमेंपंचायतचुनावकेदौरानदेखीजारहीहै।सभीपंचायतोंकेनिवर्तमानमुखियाएवंभावीप्रत्याशीचुनावीअखाड़ेमेंअपनीजीतकेलिएसमीकरणकोसफलबनानेमेंजी-जानसेलगेहुएहैं।पंचायतचुनाव,लोकसभाएवंविधानसभाचुनावकीतरहभलेहीराजनीतिकदलोंपरआधारितनहींहो,परंतुपंचायतचुनावकीप्रक्रियाशुरूहोतेहीआमलोगोंकेसाथराजनीतिकदलोंकीदिलचस्पीएवंसक्रियताभीसाफदेखीजारहीहै।केंद्रएवंराज्यकीसरकारमेंराजनीतिकदलोंकीभागीदारीकेबादगांवकीसरकारबनानेमेंभीराजनीतिकदलोंकेनेतापर्देकेपीछेहीसहीपरअपनेसमर्थकोंकोचुनावीमैदानमेंउतारनेकीकवायदमेंहैं।राजनीतिकदलोंद्वाराअप्रत्यक्षरूपसेपंचायतकेविभिन्नपदोंकेलिएअपनेसमर्थकोंकोचुनावीअखाड़ेमेंपूरीसक्रियताकेसाथउतारनेकेसाथ-साथमतदाताओंकेबीचजनमतदिलानेकोलेकरलोगोंकेबीचचौपालोंकाहिस्साबनरहेहैं।राजनीतिकदलएवंपंचायतचुनावकेअखाड़ेमेंउतरनेकोतैयारभावीप्रत्याशियोंकीनिगाहेंपंचायतचुनावकेजीतमेंनिर्णायकभूमिकानिभानेवालीआधीआबादीपरटिकीहुईहै।पिछलेकईपंचायतचुनावकीतुलनामें2021कापंचायतचुनावकईमायनेमेंअलगदिखरहाहै।वैसेतोसभीचुनावोंमेंमहिलाएंयानिआधीआबादीकीभूमिकाकाफीनिर्णायकरहीहै।यहीवजहहैकिचुनावमेंजनप्रतिनिधिआधीआबादीकेजनमतप्राप्तकरनेकोलेकरकुछज्यादाहीसक्रियतादिखारहेहैं।जिलेमेंपंचायतचुनावकोलेकरप्रथमचरणकेलिएनामांकनकीप्रक्रियागुरुवारकोसिकंदराप्रखंडसेप्रारंभहोचुकीहै।जैसे-जैसेमतदानकेदिननजदीकआरहेहैं,जनप्रतिनिधियोंएवंराजनीतिदलोंकीसक्रियताबढ़तीजारहीहै।