चुनाव आयोग तृणमूल व माकपा से छिन सकता है राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा

कोलकाता,जागरणसंवाददाता।चुनावआयोगबंगालकीसत्ताधारीपार्टीतृणमूलकांग्रेसवराज्यमें34सालों तकशासनकरचुकीमाकपासेराष्ट्रीयपार्टीकादर्जाछीनसकताहै।आयोगसूत्रोंकेहवालेसेबतायागयाकियेदोनोंदलराष्ट्रीयपार्टीकीस्वीकृतिबनाएरखनेकीमौजूदाशर्तकोपूरानहींकररहेहैं।ऐसेमेंदोनोंदलोंकेप्रमुखोंकोजल्दनोटिसभेजकरपूछाजाएगाकिआखिरउनकाराष्ट्रीयपार्टीकादर्जाक्योंनखत्मकियाजाए?हालांकि,इससूचीमेंकेवलमाकपाऔरतृणमूलहीनहीं,बल्किराकांपाभीशामिलहै।

मौजूदानियमोंकेमुताबिकराष्ट्रीयपार्टीकीस्वीकृतिरखनेकेलिएकमसेकमचारराज्योंमेंलोकसभायाविधानसभाचुनावमेंकिसीपार्टीविशेषकोकमसेकमछहफीसदवोटमिलनाचाहिए।लोकसभाकीकुलसीटोंकाकमसेकमदोफीसदअर्थातनौसीटेंजीतीहुईहोनीचाहिए।येसीटेंभीएकराज्यमेंसीमितनहोकरकमसेकमतीनराज्योंमेंहोनीचाहिए।तृणमूलइनशर्तोंकोपूरानहींकररहीहै।पार्टीनेलोकसभामें22सीटेंजरूरजीतीहैंलेकिनवहकेवलबंगालतकहीसीमितहै।

इतनाहीनहीं,अन्यराज्योंमेंतृणमूलको6फीसदवोटनहींमिलेहैं।ऐसेमेंतृणमूलकोमिलेराष्ट्रीयपार्टीकादर्जाचुनावआयोगखत्मकरसकताहैऔरयहीस्थितिमाकपाकीभीहै।पार्टीकोसिर्फतमिलनाडुमेंदोलोकसभासीटेंमिलीहैं।केरलमेंमाकपाकीसरकारहोनेकेबावजूदवहांएकभीलोकसभासीटजीतनेमेंपार्टीनाकामरहीहै।अन्यराज्योंमेंभीपार्टीकोलोकसभाअथवाविधानसभामेंछहफीसदवोटनहींमिलेहैं।बंगालकीबातकरेंतो42मेंसे41सीटोंपरपार्टीउम्मीदवारोंकीजमानतजब्तहोगई।ऐसेमेंमाकपाकीभीराष्ट्रीयपार्टीकेतौरपरस्वीकार्यताखत्मकरनेकीतैयारीआयोगजुटगयाहै।

इधर,तृणमूलकेराष्ट्रीयप्रवक्तावराज्यसभासांसदडेरेकओब्रायनकीमानेंतोउन्हेंआयोगकीइसचिट्ठीकोलेकरकोईचिंतानहींहै।उन्होंनेकहाकितृणमूललंबेसमयसेचुनावप्रक्रियामेंसुधारकीमांगकररहीहै।आयोगअपनीविश्वसनीयताखोचुकाहै।ऐसेमेंउनकेनोटिसयाकार्रवाईकाकोईऔचित्यनहींबनता।वहींगुरुवारकोआयोगसूत्रोंनेपुष्टिकीहैकिअगस्ततकइनतीनोंदलोंकोनोटिसभेजाजासकताहै।