बेरी में पीने के पानी का संकट, एक तो सप्लाई नहीं, दूसरा दूषित आ रहा पानी

संवादसूत्र,बेरी:कस्बेकेघरोंमेंपिछलेलंबेसमयसेविभागद्वारानियमितरूपसेपेयजलापूर्तिनहींकीजारही,जहांपेयजलआपूर्तिहोरहीहै,वहांपीनेलायकपानीनहीं।जिसकेकारणबेरीवासियोंकोपरेशानीकासामनाकरनापड़रहाहै।कस्बावासियोंकाकहनाहैकिप्रशासनइसकाजल्दसेजल्दसमाधानकरें।उन्होंनेकहाकिकुछघरोंमेंतोपेयजलापूर्तिबिल्कुलनहींहोतीऔरजहांहोतीहैवहांकईपिछलेकईदिनोंसेगंदेवबदबूदारपानीकीआपूर्तिकीजारहीहै।घरोंमेंसप्लाईकियाजानेवालापानीदूषितवपीनेयोग्यनहींहै।उल्टाइसपानीकेइस्तेमालसेबीमारहोनेकाखतराबढ़जाताहै।पिछलेकईसप्ताहसेनलमेंबहुतहीगंदा,कालावबदबूदारपानीआरहाहै।इससेकस्बेमेंपेयजलसंकटगहरायाहुआहै।

बेरीवासियोंनेकहाकिनलमेंआरहापानीनालीमेंबहनेवालेपानीकेसमानहै।इसमेंकीचड़कीतरहबदबूआतीरहतीहै।यहपानीपीनातोदूरकपड़ेधोनेकेभीकामकानहींलेसकतें।ऐसेमेंलोगोंकोपेयजलकेलिएदर-दरभटकनापड़रहाहैयाफिरगर्मीकेमौसममेंमजबूरनपानीखरीदकरपीनापड़ताहै,जोबहुतमहंगाहै।उन्होंनेकहाकिवेप्रतिकैम्परमहीनेकेकरीब500से600रुपयेदेतेहैं।बेरीकेछाज्यानवासियोंनेकहाकिपहलेपानीकीआपूर्तिठीकढंगसेहोरहीथी,लेकिनविभागद्वाराएकलाइनकोबंदकरदिया।लाइनबंदकरनेकेबादतोपानीबिल्कुलनहींआरहाहै।

लोगोंनेमांगकरतेहुएकहाकिविभागनेजोलाइनबंदकीहै,उसेदोबाराचालूकियाजाए।ताकिलोगोंकोसुचारूरूपसेपानीमिलसके।कस्बावासियोंनेपानीकीसमस्याकोठीककरस्वच्छपेयजलसप्लाईकीमांगकी।वेबार-बारविभागकेअधिकारियोंवकर्मचारियोंकोइससमस्याकेबारेमेंअवगतकरवाचुकेहैं,लेकिनअभीतककोईकार्रवाईनहींकीगई।जिसकेकारणलोगोंकोसमस्याकासामनाकरनापड़रहाहै।दूसरोंकेघरोंमेंपानीकेलिएभटकनापड़ताहै।पीनेकेपानीकीसमस्याकोलेकरक्षेत्रवासीजनस्वास्थ्यविभागकेएसडीओसेमिलेऔरज्ञापनसौंपा।-बेरीमेंकुछजगहपरबदबूदारवकालापानीमिलनेवकुछस्थानोंपरपानीनामिलनेकामामलासंज्ञानमेंआयाहै।विभागकीटीमपानीचेककरनेकेलिएलगादीहै।जल्दहीपानीकीसमस्याकासमाधानकरवादियाजाएगा,ताकिलोगोंकोस्वस्थवजहांपानीनहींपहुंचरहाउनकोपानीमिलसके।पानीकेलिएकिसीतरहकीपरेशानीनहींहोनेदीजाएगी।

नवीनगोयत,एसडीओ,जनस्वास्थ्यविभाग,बेरी।