बारिश में किसान रहें सावधान, कपास की खेती को खतरा, बस इसका रखें ध्‍यान

कैथल,[सोनुथुआ]।मानसूनकीबरसातमेंकाटनफसलकीखेतीकरनेवालेकिसानसावधानरहिए।क्योंकिअगरआपकेकाटनकेखेतमेंलगातारपांचदिनपानीखड़ारहातोपौधासूखनेकीसंभावनाबनीरहेगी।पौधोंकेनीचेहिस्सेसेपीलापनदिखाईदेनेलगेगा।इसलिएअपनेकाटनफसलकीपानीनिकासीकासमुचितसमयअनुसारप्रबंधकरलीजिए।

बरसातहोनेकेबादकिसानकपासकेखेतमेंज्यादापानीहोनेपरबाहरनिकालदेंऔरपौधेकेसाथजड़ोंमेंमिट्टीलगाए,जिससेपानीपेड़कीजड़मेंनपहुंचे।वहींबरसातकेबादकिसानएकबैगयूरियाप्रतिएकड़जरूरडाले।पौधोसूखनेपरपौधेकोखेतमेंहीउखाड़करजमीनमेंदबादें,ताकिपौधोंकोआगेसूखनेसेरोकाजासकें।

पानीएकत्रितहोनेपरयेहोतीहैसमस्या

काटनफसलमेंबरसातकापानीएकत्रितहोनेपरटिड्डेमेंकीड़ालगनाशुरूहोजाताहै।पत्तेपरसफेदवपीलापनसाआजाताहै।फूलखिलनेसेपहलेहीटूटकरजमीनपरगिरजातेहैं।पौधासूखनाशुरूहोजाताहै।पौधाफूलकमबनाताहै।

मानसूनमेंइनबीमारियोंकीरहतीहैसंभावना

मानसूनबरसातमेंगुलाबीसुंडी,सफेदमक्खी,हरातेलाएंवथ्रिप्सचूरड़ाबीमारीआनेकीसबसेज्यादासंभावनारहतीहै।कैथल,जींद,हिसार,रोहतक,सोनीपत,भिवानीमहेंद्रगढ़,रेवाड़ी,पलवलएंवगुरुग्राममेंनरमाकपासकीबिजाईकीजातीहै।

ऐसेकरेंनिगरानी

कपासकीफसलमेंरसचूसनेवालेकीटोंकीनिगरानीकेलिएप्रतिएकड़20पौधोंकीतीनपत्तियोंपरसफेदमक्खी,हरातेलाएंवथ्रिप्सचूरड़ाकीगिनतीसाप्ताहिकअंतरालपरकरें।जुलाईमाहमेंथ्रिप्सकाप्रकोपज्यादातरपायाजाताहै।हरातेलाकाप्रकोपभीपायाजाताहै।कपासकीफसलमेंथ्रिप्सकाप्रकोपहोनेपरडाईमेथोएट30ईंसीकी250से350मिलीलीटरमात्राकोृ120से150लीटरपानीकीदरसेछिड़कावकरें।हरातेलाकाप्रकोपहोनेपर40मिलीलीटरइमिडाक्लोप्रिड,कॉन्फीडोर200एसएमयाग्रामथायामिथक्सामएकतारा25डब्लूजीको120से150लीटरपानीकीदरसेछिड़कावकरें।गुलाबीसूंडीकेलिएप्रोफेनोफास50ईसीवतीनमिलीलीटरयाक्विनल्फाॅस20एएफमिलीलीटरकाछिड़कावकरें।

कृषिउपनिदेशककर्मचंदनेबतायाकिकाटनमेंपांचदिनपानीनखड़ाहोनेदें।इससेपौधासूखनाशुरूहाेजाताहै।सुबहवशामबरसातकेमौसममेंकिसानखेतोंकीदेखभालकरें।पानीनिकासीकाविशेषप्रबंधरखें।पानीनिकासीनहोनेसेअगरखेतमेंअधिकपानीभरगयातोकपासकीखेतीनष्टहोजाएगी।