बागडिगी खान दुर्घटना के शहीदों को श्रद्धांजलि

संस,लोदना:दोफरवरी2001कोबागडिगीकोलियरीखानदुर्घटनामेंशहीदहुए29श्रमिकोंकोउनकीबरसीपरमंगलवारकोशहीदस्मारककेपासबीसीसीएलकेअधिकारियों,यूनियननेताओं,शहीदकेपरिवारवालोंवझरियाकीविधायकपूर्णिमानीरजसिंहनेभावभीनीश्रद्धांजलिदी।दोमिनटकामौनरखागया।बीसीसीएलकेडीपीपीवीकेएममल्लिकार्जुनराव,जीएमसेफ्टीएकेसिंह,लोदनाक्षेत्रकेजीएमजीडीनिगम,क्षेत्रीयकार्मिकप्रबंधकडीकेभगत,पीओकेकेसिंह,एमकुंडू,डीकेमीणा,एसकेझा,एनकेराणा,श्रमिकनेताओंवशहीदकेपरिवारवालोंनेशहीदस्मारकपरफूलचढ़ाए।बागडिगीखानमेंपानीघुसनेसेदोअधिकारियोंसहित29श्रमिकशहीदहोगएथे।श्रद्धांजलिदेतेसमयशहीदहुएपरिवारकेलोगोंकेविलापसेमाहौलगमगीनहोगया।शहीदोंकीआत्माकीशांतिकेलिएअनुष्ठानवपाठभीहुआ।बीसीकेयूनेबागडिगीकार्यालयसेशहीदोंकीयादमेंजुलूसनिकाला।बीसीकेयूकेअध्यक्षएसकेबक्शीनेभीशहीदस्मारकपरमाल्यार्पणकिया।योगेंद्रयादव,मुंद्रिकापासवान,नंदलालपासवान,सुरेशगुप्ता,बिहारीलालचौहान,बिनोदपासवान,शमशेरआलम,वाइएनउपाध्याय,रामअवतार,बलराम,अशोकसाव,रविन्द्रप्रसाद,धर्मेंद्रसिंह,अखिलेशसिंह,मल्लूसिंह,भोलायादव,शिवजीसिंह,विकासपासवान,संध्याबक्शी,शिवबालकपासवान,केपीतिवारी,कृष्णापासवान,प्रजापासवान,ललनपासवान,सुदर्शनप्रसाद,छोटूसिंह,हेमंतपासवान,मिथिलेशनोनिया,सुरेशपासवान,अलीअहमदवएम्पाकेवीपीसिंह,अशोककुमारवर्मा,धीरजकुमार,जेकेसिंहनेभीश्रद्धांजलिदी।

शहीदश्रमिकोंकेपरिवारवालेबीसीसीएलकेरवैयेसेनाराज

बागडिगीखानदुर्घटनामेंशहीदहोनेवालेश्रमिकोंकीपत्नीबीसीसीएलप्रबंधनकेरवैयेसेनाराजहैं।बतायाकिहादसेमेंहमारेपतिशहीदहुएथेतोउससमयकईसुविधाएंदेनेकाआश्वासनदियागयाथा,लेकिनहरवर्षप्रबंधनकीओरसेआश्वासनहीमिलताहै।शहीदसंतरामप्रसादकीपत्नीसुनीतादेवीनेविधायकपूर्णिमानीरजसिंहकेपासरोकरअपनीपीड़ाबताई।कहाकिहमाराप्रमोशननहींहोरहाहै।

शहीदकीपत्नीकोआजतकपेंशननहीं

श्यामलालकोड़ाकीपत्नीलुखड़ीदेवीनेबतायाकिहादसेके20वर्षबादभीअबतकपेंशनशुरूनहींहुईहै।शहीदशिवचरणतांतीकेपुत्रनेकहाकिपिताकीमौतकेबादतुरंतनियोजनतोमिला,लेकिनशुरूकेचारवर्षजोकामकिए,उसकावेतनअभीतकनहींमिलसकाहै।एम्पाकेबीपीसिंहनेकहाकिशहीदहुएप्रबंधकअभयकुमारउपाध्यायकीपत्नीऊषाउपाध्यायवएसीएमपीआरसिंहकीपत्नीसुरंजनाकोअबतकपतिकेकईहितलाभकाभुगताननहींहुआहै।विधायकपूर्णिमानेसमस्याकोजल्ददूरकरनेकीबातकही।

कोलइंडियाकीअन्यकंपनियोंकीअपेक्षाबीसीसीएलकीस्थितिअलगवविकटहै।स्थितिकोदेखतेहुएकामगारोंकोज्यादासर्तकवसुरक्षितरहनाचाहिए।सुरक्षाकोप्राथमिकतादेनीहोगी।ऐसीघटनाभविष्यमेंनहींहोइसेध्यानदेनाहोगा।शहीदोंकोहमनमनकरतेहैं।

-पीवीकेएममल्लिकार्जुनराव,डीपीबीसीसीएल।

बीसीसीएलअपनेश्रमिकोंकीसुरक्षावहितोंकेमामलेमेंसिर्फखानापूर्तिकरतीहै।प्रबंधनईस्टइंडियाकंपनीवालारवैयाअपनारहीहै।ऐसीघटनाकीपुनरावृतिनहींहो।इसकेलिएप्रबंधनपरसुरक्षाकेपुख्ताइंतजामकेलिएदबावबनायाजाएगा।

-पूर्णिमानीरजसिंह,विधायकझरिया।

खदानमेंसुरक्षाकेपुख्ताइंतजामनहींहैं।डीजीएमएसभीसुरक्षाकेलिएकोईउपायनहींकररहाहै।दुर्घटनाकेबादजांचकेलिएपहुंचकरखानापूर्तिकीजारहीहै।कोयलाउद्योगकोनिजीकरणकरनेकीसाजिशकोकामयाबहोनेनहींदियाजाएगा।

-एसकेबक्शी,अध्यक्ष,बीसीकेयू।