अन्नदाता धरने पर, परिवार ने संभाली खेती की कमान

बिदुउप्पल,जगराओं:देशकाअन्नभंडारभरनेवहरितक्रांतिलानेवालेअन्नदाताआजअपनेअधिकारोंकेलिएसड़कोंपरसोनेपरमजबूरहै।पिछलेदोमहीनेसेदेशकी472किसानजत्थेबंदियांकेंद्रसरकारकेकृषिसुधारकानूनोंकोरदकरवानेकेलिएसड़कोंपरहै।दिल्लीबार्डरपरपहुंचेकिसानोंकेहौसलेबुलंदहैं।यहकहनाहैपंजाबकिसानयूनियनजिलालुधियानाकेप्रधानबूटासिंहचक्रकेबेटेयुवाकिसानगुरप्रीतसिंहहंसराका।

50एकड़मेंगेहूंकीदेखरेखकररहेगुरप्रीत

जगराओंकेगांवचक्रकेकिसानगुरप्रीतसिंहहंसरानेबतायाकिवेपिछलेदोमहीनेसेगेंहूकीखेतीदेखरहेहैं,क्योंकिउनकेपिताबूटासिंहअक्टूबरसेहीकिसानआंदोलनमेंभागलेरहेहै।पितागेंहूकीबिजाईकरवागएथेऔरअबगेहूंकीफसलकोपानीलगानेवयूरियाछिड़कानेकासमयथा।इसलिएवेसुबह-शाममजदूरोंकेसाथ50एकड़मेंगेहूंकीखेतीकीदेखरेखकररहेहैं।

मिट्टीसेमिट्टीहोनेकेलिएतैयारहुआ:इकबालसिंह

गांवचक्रकेकिसानदिलवारासिंहकिसानआंदोलनमेंभागलेनेगएहैं,उनकेपीछेउनकाबेटाइकबालसिंह40एकड़मेंकीगेंहूकीबिजाईकीदेखरेखकरमिट्टीसेमिट्टीहोनेकेलिएजुटाहै।इकबालनेकहाकिसूबेकीकिसानीकालक्ष्यजीतहासिलकरनाहैतोपिताउसकाममेंडटेहैऔरमैंखेतीकरनेमेंडटाहूं।

आलूकीरखवालीमेंवयस्तहैंगुरप्रीतमोही

युवाकिसानगुरप्रीतसिंहनेबतायाकिपितागुरमेलसिंहदिल्लीमेंकिसानआंदोलनमेंगएहैं।उन्होंनेगांवमोहीमें30एकड़मेंआलूकीबिजाईकीहै।दिन-रातखेतोंकादौराकरपानीवस्प्रेकेलिएमजदूरोंकेसाथमिलकरखेतीकीदेखरेखकररहेहैं।

बेटेआंदोलनमें,चरणसिंहनेसंभालीकमान

किसानचरणसिंहनेबतायाकिउनकेदोनोंबेटेदिल्लीसंघर्षकेलिएगएहुएहैऔरअबवेयहांछहएकड़मेंगेहूंकीफसलकीदेखरेखमेंव्यस्तहै।वेयूरियाकाछिड़काववपानीलगातेहैं,ताकिसंघर्षकाफसलकेउत्पादनपरअसरनपड़े।

गुरुघरोंसेहोतीहैकिसानोंकीसहायताकीअपील:गुरमेल

गांवभम्मीपुराकेसमाजसेवकगुरमेलसिंहनेबतायाकिदेशकेअन्नदाताकिसानीकोबचानेकेलिएअपनेघरोंसेबेघरहोकरसड़कोंपररहकरसंघर्षकररहेहैं।ऐसेमेंहमाराभीफर्जहैकिउनकीवउनकेपरिवारकीसुरक्षाकरें।इसीलिएगांवडल्ला,भम्मीपुरावदेहड़काकेगुरुघरोंमेंकिसानोंकीहरतरहसेसहायताकरनेकीअपीलकीजारहीहै।इसकेलिएदानीसज्जनआगेभीआरहेहैं।