ऐतिहासिक स्मृतियों से जुड़ा है पट्टी का दशहरा मेला : मोती सिंह

संसू,पट्टी:पट्टीकामेलाऐतिहासिकस्मृतियोंसेजुड़ाहै।प्रत्येकवर्षश्रीरामलीलासमितिइतनाबड़ाआयोजनकरतीहै,जोशायदपूरेप्रदेशमेंकहींपरभीनहींकियाजाता।इसकीजितनीसराहनाकीजाएवहकमहै।यहबातेंकैबिनेटमंत्रीराजेंद्रप्रतापसिंहमोतीसिंहनेशुक्रवारकोपट्टीकेदशहरामेलाकाफीताकाटकरशुभारंभकरतेहुएकही।उन्होंनेकहाकिमेलेमेंहरतरहकासहयोगदिएजानेकाभरोसादिलाया।पुरोहितश्यामशंकरदूबेनेमंत्रोच्चारकेबीचकार्यक्रमसंपन्नकराया।बादमेंमेलाक्षेत्रकेकंट्रोलरूमवखोयापायाकेंद्रकाभीशुभारंभफीताकाटकरमंत्रीकेसाथएसडीएमधीरेंद्रकुमारसिंहवसीओपट्टीनवनीतनायकनेमेलागेटपरफीताकाटकरकिया।यहांपरउन्होंनेमेलासमितिकेअध्यक्षजुग्गीलालजायसवालवप्रबंधकसुरेशकुमारजायसवालएवंनंगरपंचायतअध्यक्षखेदनलालजायसवालसेमेलाव्यवस्थाकेसंबंधमेंबातचीतकी।संचालनरामचरित्रवर्मानेकिया।इसदौरानइंस्पेक्टरकोतवालीनरेंद्रकुमारसिंह,मेलाप्रभारीअनिलकुमार,मेलासमितिकेपूर्वप्रबंधककमलाकांतपांडेय,मीडियाप्रभारीविनोदपांडेय,एसडीओविद्युतएसबीप्रसाद,ईओनगरपंचायतअशोकपियदर्शी,रामगुलाबसिंह,अशोकसिंह,अर्जुनप्रतापसिंह,प्रमुखपट्टीराकेशसिंह,राजेशदूबे,बुदुलसिंह,रंजनत्रिपाठी,रामचंद्रजायसवाल,डा.केएलविश्वकर्मा,कमलापतिजायसवाल,अवधेशसिंह,अतुलकुमारखंडेलवाल,अशोकश्रीवास्तव,बृजेशसिंह,प्रमोदकुमारखंडेलवाल,घनश्यामघायल,रमेशबरनवाल,सजीवनसोनी,रमेशसोनी,चंद्रकेशसिंह,राकेशसिंहमौजूदरहे।

मेलाक्षेत्रमेंकमरहीभीड़

संसू,पट्टी:तीनदिवसीयमेलेमेंपहलेदिनअपेक्षाकृतदर्शकोंकीभीड़कमरही।इससेमेलादुकानदारोंमेंमायूसीछाईरही।पट्टीकाऐतिहासिकतीनदिवसीयदशहरामेलारविवारतकचलेगा।रविवारकीरात्रिकोमेलेकाभरतमिलापसंपन्नहोगा।कहनेकोतोयहमेलातीनदिनोंकाहोताहै,लेकिनलगभगदसदिनोंतकचलनेवालेइसमेलेमेंदर्शकोंकीसंख्यामेलाकेदूसरेदिनदोपहरबादसेहीशुरुहोतीहै।मेलामैदानपूरीतरहसेदुकानदारोंसेभरचुकाहै।कहींमहिलाओंकेप्रसाधनकासामानतोकहींहवाईझूलेलगेहुएहैं।मेलेमेंलगामौतकाकुंआमेलादर्शकोंकोअपनीओरविशेषरुपसेआर्कर्षितकररहाहै।ब्रेकडांसझूलाभीदर्शकोंकेलिएआकर्षणकाकेंद्रबनाहुआहै।

भव्यताकेसाथनिकालागयारामरथ,हुआस्वागत

संसू,पट्टी:श्रीरामलीलासमितिद्वाराशुक्रवारकोदोपहरबादनगरकेरायपुररोडस्थितचमनचौराहेसेपूरीभव्यताकेसाथभगवानरामकीशोभायात्रानिकालीगई।यहशोभायात्रापूरेनगरभ्रमणकेपश्चातमेलामैदानपरपहुंची,जहांपरराम-रावणकायुद्धहुआऔरअहंकारीरावणकेवधकेसाथप्रथमदिनकेमेलेकासमापनहोगया।

शोभायात्रामेंआगे-आगेरामलक्ष्मणकीझांकीऔरउसकेपीछेसीतामाताएवंवानरोंकीसेनाकेसाथहीबैंडबाजेवालेचलरहेथे।चमनचौराहेपरमेलासमितिकेअध्यक्षजुग्गीलालजायसवालकेसाथअन्यलोगोंनेरामदरबारकीआरतीउतारकररामरथपरपुष्पवर्षकी।इसकेबादसभासदरामचरित्रवर्मा,ढकवामोड़तिराहेपरडा.केएलविश्वकर्मा,ढकवामार्गकेपेट्रोलपंपपरनंदलालजायसवालनेरामदरबारकीआरतीउतारी।शोभायात्राचौकसेहोकरमेलामैदानकेप्रवेशद्वारसेअंदरपहुंची,जहांभगवानरामवरावणकेबीचयुद्धहुआऔरगोलोंकीआवाजकेसाथरावणधाराशाहीहुआतोपूरामेलाक्षेत्रसियारामचंद्रजीकीजयकेघोषसेगूंजउठा।इंस्पेक्टरकोतवालीनरेंद्रसिंहपूरीफोर्सकेसाथरामरथकेसाथपैदलहीसुरक्षाव्यवस्थामेंलगेरहे।इसमौकेपरसभासदरामप्रकाशजायसवाल,अनिलश्रीवास्तव,लालचंद्रमोदनवाल,राजेश्वरीप्रसादखरे,पवनखंडेलवाल,सनीजायसवाल,रफीकउर्फलकी,जैनुद,मो.इरशाद,मो.अयूबआदिमौजूदरहे।