अधिकारों को पहचाने प्रधान तभी होगा गांव का विकास, कार्यशाला में प्रधानों को दिया गया प्रशिक्षण

कौशांबी।पंचायतीराजविभागद्वारासिराथूब्लाकसभागारमेंक्षेत्रकेग्रामप्रधानकादोदिवसीयप्रशिक्षणकार्यक्रमआयोजितकियागयाहै।जिसमेंग्रामप्रधानोंकेअधिकारोंवविकासकार्योंकेतौरतरीकोंकीजानकारीदीगई।मंगलवारकोकार्यशालाकाशुभारंभसिराथूविधायकशीतलाप्रसादपटेलनेफीताकाटकरकिया।इसमौकेपरउन्होंनेकहाकिग्रामप्रधानअपनेहकवअधिकारोंकोपहचानेंगे,तभीगांवकाविकाससंभवहै।आत्मनिर्भरभारतबनानेकेलिएग्रामपंचायतकोविकसितहोनाजरूरीहै।

हमारीयोजनाहमाराविकासकार्यक्रमकेतहतसिराथूब्लाकपरिसरमेंग्रामप्रधानोंकादोदिवसीयप्रशिक्षणकार्यक्रमकाआयोजनकियागयाहै।पहलेदिनमंगलवारको79ग्रामपंचायतोंमेंसे50गांवकेप्रधानोंकोप्रशिक्षणदियागया।29प्रधानोंकोबुधवारकोप्रशिक्षितकियाजाएगा।मास्टरट्रेनररत्नेशकुमारवप्रभाकरसिंहनेगांवकेविकासकीजानकारीदेतेहुएबतायाकिशासनद्वाराग्रामपंचायतोंमेंप्राथमिकतापरसाफसफाई,शौचालयोंकानिर्माण,पंचायतभवनकीमरम्मत,पेयजलकेलिएकामकरानेकानिर्देशदियागयाहै।इसकेअलावागांवमेंनाली,सड़कसहितअन्यजरूरतकेमुताबिकविकासकेकामकरानेकेलिएकहागयाहै।ग्रामपंचायतोंकोपूरीतरीकेसेविकसितकरनेकेलिएखुलीबैठकमेंमुख्यसमस्याकोजाननेकेबादउसकाप्रस्तावतैयारकराकरप्राथमिकतापरकामकराएं।पंचायतोंमेंसरकारीभवनोंकेदेखरेखवरखरखावकीजिम्मेदारीप्रधानपरहोतीहै।जिसेअपनेगांवकीसंपत्तिसमझकरउसकीहिफाजतकरें।ग्रामपंचायतकेअलावादूसरेविभागसेहोनेवालेविकासकार्योंकीगुणवत्ताकीपरखकरेंऔरसंबंधितकार्यदायीसंस्थाकेअधिकारियोंसेबातचीतकरसहीढंगसेकामकरनेकेलिएकहें।इसमौकेपरब्लाकप्रमुखप्रतिनिधिलवकुशमौर्य,सहायकविकासअधिकारीपंचायतनवनीतभारतीय,एडीओसहकारितापवनकुमारपटेल,समितिग्रामपंचायतअधिकारीवप्रधानमौजूदरहे।