अब नहीं होगा पानी बर्बाद, मेरठ के इंद्रजीत का यह नायाब मॉडल कर रहा भूजल रीचार्ज

मेरठ,जेएनएन।गांवोंमेंजनसंख्याबढ़ी,साथहीबढ़ेघर।ऐसेमेंजलदोहनऔरपानीकाउपयोगभीबढ़ा।उपयोगकेबादबचेहुएपानीवबारिशकेपानीकोएकत्रकरनेवालेतालाबोंपरकब्जाकरलिएगएयाफिरउनपरभीघरबनगए।अंजामयहहुआकिगांवोंमेंपानीइधर-उधरबहकरबर्बादहोजाताहै।लेकिनमवानाकेमुबारिकपुरगांवनिवासीइंद्रजीतनेजलकीबर्बादीरोकनेकाउपायढूंढनिकालाहै।इंद्रजीतकामाडलअबपानीकोइधर-उधरबहनेसेबचाकरधरतीमेंभीसाफपहुंचाकरभूजलरीचार्जकररहाहै।उनकायहमाडलकईगांवोंमेंअपनायागयाहै।अबइससालवेइसेशहरोंकीओरलेकरजाएंगे,ताकिजलसंरक्षणठीकसेहोसकेवभूजलरीचार्जहोसके।

गांवोंमेंइसतरहसेबनायाहैसोखपिट

इंद्रजीततालाबकेस्थानपरसोखपिटबनवानेकीबातकरतेहैं।उनकाकहनाहैकिइसमेंपांच-छहपरिवारोंसेलेकर20परिवारोंतककेघरकापानीएकत्रहोजाताहै।फिरवहफिल्टरहोकरधरतीमेंचलाजाताहै।इससेउपयोगकेबादबचेहुएपानीकासंरक्षणहोजाताहै।10फीटगहरापिटबनातेहैं।उनकेबताएगए

सोखपिटमाडलकाप्रयोगसरधनावमवानाब्लाककेकईगांवोंमेंकियागया।आधादर्जनसेअधिकग्रामपंचायतोंनेइसमाडलकोअपनाकरजहांगांवोंमेंजलभरावकीसमस्याखत्मकी,वहींजलसंरक्षणमेंभीयोगदानदिया।

सड़ककेनीचेभीबनादेतेहैंसोखपिट

इंद्रजीतकाकहनाहैकिअगरकहींपरजगहकीकमीहैतोवेइससोखपिटकोसड़ककेनीचेभीबनादेतेहैं।10फिटलंबाईवचौड़ाईकाभीसोखपिटहोसकताहैयाफिरउससेभीकम।पिटबनानेकेबादउसपरमजबूतढक्कनरखाजाताहै।फिरउसपरआरामसेवाहनचलतेहैंजैसेमेनहोलहोताहै।यदिजगह

हैतोकहींभीबनवायाजासकताहै।यदिसड़ककेनीचेबनवायाजाताहैतोउसमेंकरीब70हजाररुपयेखर्चआताहैऔरयदिअन्यस्थानपरतोउसमें40हजारका।

इससालकईग्रामपंचायतोंसेसंपर्ककरनेकेसाथहीशहरोंमेंभीसोखपिटबनवाएंगे।अबअपनीफर्मभीबनाएंगेताकिइसकालाभज्यादालोगोंतकपहुंचसके।

संकटमेंनरहेगाजलछाएउम्मीदोंकेबादल

मेरठमेंजलापूर्तिकेलिएनलकूपोंसेभूजलकादोहनहोताहै।आबादीज्यादाहोनेकेकारणबड़ीमात्रमेंपानीकीआपूर्तिकरनीहोतीहै।ऐसेमेंअबगंगाजलकीआपूर्तिबढ़ादीजाएगी,ताकिनलकूपोंसेहोनेवालादोहनकमहो।निगमकरीब60नलकूपोंकोबंदकरेगा।नगरनिगमइससालपांचभूमिगतजलाशयबनाएगा।येजलाशयछहहजारवर्गमीटरक्षेत्रफलकेहोंगे।बच्चापार्क,गोलाकुआं,शास्त्रीनगरसेक्टर-12वनौचंदीमेंभूमिगतजलाशयबनाएजाएंगे।14वेंवित्तआयोगसेइसकेलिएपांचकरोड़काप्रस्तावस्वीकृतकियागयाहै।गंगाजलकोइनजलाशयोंमेंएकत्रकरनेकेबादशहरमेंपेयजलकेरूपमेंआपूर्तिहोगा।