अब महाराष्‍ट्र में सामने आई कांग्रेस की कलह- मिलिंद देवड़ा के इस्‍तीफे पर निरुपम का तंज, जानिए क्‍या कहा

मुंबई।महाराष्ट्रविधानसभाचुनावसेठीकतीनमहीनेपहलेमुंबईकांग्रेसअध्यक्षमिलिंदएमदेवड़ानेरविवारकोअपनेपदसेइस्तीफादेदिया।लेकिनइसइस्‍तीफेकेतुरंतबादहीकांग्रेसकीकलहभीसामनेआगई।मिलिंददेवड़ाकेइस्‍तीफेपरकांग्रेसकेहीएकनेतासंजयनिरुपमनेतंजकसाहै।हालांकिउन्‍होंनेअपनेइसतंजमेंकहींभीउनकानामनहींलियाहै।लेकिनट्वीटकोदेखकरसाफहैकिउन्‍होंनेनिशानामिलिंददेवड़ापरहीसाधाहै।दरअसललोकसभाचुनावोंमेंमुंबईकांग्रेसकीकमानसंजयनिरुपमकेहाथसेलेकरमिलिंददेवड़ाकोदीगईथी।

निरुपमनेहिंदीमेंकियेट्वीटमेंलिखा,''इस्तीफामेंत्यागकीभावनाअंतर्निहितहोतीहै।यहांतोदूसरेक्षण'नेशनल'लेवलकापदमांगाजारहाहै।यहइस्तीफाहैयाऊपरचढ़नेकीसीढ़ी?पार्टीकोऐसे'कर्मठ'लोगोंसेसावधानरहनाचाहिए।''निरुपमनेएकअन्यट्वीटमेंलिखा,''अध्यक्षकेस्थानपरमुम्बईकांग्रेसचलानेकेलिएतीनसदस्यीयसमितिबनानेकाविचारबिल्कुलभीउचितनहींहै।इससेपार्टीकोऔरनुकसानहोगा।''वहींमिलिंददेवड़ाकेइस्तीफेकोनिवर्तमानकांग्रेसअध्यक्षगांधीकेइस्तीफेकेसाथएकजुटताऔरसामूहिकजिम्मेदारीकीअभिव्यक्ति'केरूपमेंदेखाजारहाहै।

हालांकि,देवड़ाने4जुलाईकोगांधीकीमुंबईयात्राकाआयोजनकियाथा।उन्होंनेकहाकिचुनावोंकीतैयारीकेलिएउन्हेंजोसमयदियागयाथावहबहुतकमथाऔरबहुतदेरहोचुकीथी।फिरभीछोटेकार्यकालकेदौरानउन्होंनेपार्टीकेकार्यकर्ताओंकोएकजुटकियाऔरमुंबईकांग्रेसमेंपहचानकीराजनीतिकोसमाप्तकरदिया,इसउम्मीदमेंकिपार्टीएकबारफिरअपनेबहुभाषी,बहुसांस्कृतिकऔरसामाजिक-आर्थिकरूपसेसमावेशीआदर्शोंपरलौटेगी।बयानमेंकहागयाकिउनकेनेतृत्वमेंपार्टीनेमुंबईमेंभारतीयजनतापार्टी(बीजेपी)-शिवसेनाकेगठबंधनकोनिर्णायकटक्करदी।