5 राज्यों में चुनाव के बाद खाली रह गए कांग्रेस के हाथ, जानें कैसे और कठिन होगी आगे की राह

नईदिल्ली:हालियाचुनावोंकेनतीजोंमेंतमामसियासीदलोंकोकुछनकुछबेहतरमिला,लेकिनकांग्रेसकेहिस्सेमेंआईसिर्फहारकीहताशाऔरमायूसी।कांग्रेसजहांअपनापंजाबकाकिलाबचानेमेंनाकामरही,वहींउत्तराखंडऔरगोवाजैसेराज्योंमेंजीतकीसंभावनाहोनेकेबावजूदवहसत्तापानेमेंनाकामरही।देशमेंसत्ताकेमानचित्रपरकांग्रेसकीमौजूदगीलगातारसिकुड़तीजारहीहै।छत्तीसगढ़,राजस्थानमेंअपनेबूतेहैसरकारफिलहालछत्तीसगढ़औरराजस्थानमेंउसकीअपनेबूतेसरकारहै,जबकिमहाराष्ट्रऔरझारखंडमेंवहगठबंधनमेंसरकारमेंहै।पुडुचेरीकेबादपंजाबकेरूपमेंकांग्रेसकेहाथसेएकऔरराज्यकीसत्ताफिसलगई।अबबड़ासवालरहेगाकिबेइतंहाखराबप्रदर्शनकेइसमोड़परक्याराहुलगांधीपार्टीकीकमानसंभालेंगे?क्यापार्टीकेभीतरउनकीस्वीकार्यतारहेगी?UP,उत्‍तराखंड...5मेंसे4राज्‍योंमेंBJPकीजीतकेसबसेबड़ेहीरोहैंनरेंद्रमोदी,समझिएकैसेलोगोंकेबीचभरोसाकायमकरनेमेंकमजोरकमजोरऔरदिशाहीननेतृत्वऔरलचरसंगठनकेबावजूदकांग्रेसलगातारदेशमेंलोगोंसेजुड़ेजमीनीमुद्देउठारहीहै,लेकिनइसकेबादभीअगरसबसेपुरानीपार्टीजमीनीस्तरपरपकड़बनानेयासरकारकेखिलाफमाहौलबनानेमेंनाकामहोरहीहैतोइसकीसबसेबड़ीवजहउसकीलगातारघटतीसाखऔरविश्वसनीयताहै।लोगोंकेबीचविश्वसनीयताकेमामलेमेंपार्टीलगातारमारखारहीहै।यहीवजहहैकिवहजमीनपरअपनाप्रभावबनापानेमेंनाकामदिखतीहै।साथबढ़ेंयापीछेहटें...उलझेदिखेक्षेत्रीयदल,कांग्रेसकेबिनाक्याउल्टापड़ेगादांव?कांग्रेसकीराष्ट्रीयस्तरपरघटतीपकड़कांग्रेसकीएकबड़ीचुनौतीराष्ट्रीयस्तरपरढीलीहोतीपकड़भीहै।उसकीलगातारहोतीहारविपक्षीदलोंकेबीचउसकीपकड़औरमौजूदगीकोकमकररहीहै।पांचराज्योंकेचुनावसेपहलेदेशमेंतीसरेमंचकोलेकरकवायदेंशुरूहोचुकीहैं।टीएमसी,टीआरएसऔर'आप'जैसेदलकांग्रेससेदूरीबनारहेहैं।अगरयहीस्थितिरहीतोयूपीकीक्षेत्रीयपार्टियांभीउससेदूरजानेमेंदेरनहींलगाएंगे।कांग्रेसकेलिएबड़ीचुनौतीआमआदमीपार्टीबनरहीहै।दिल्लीकेबादपंजाबदूसराराज्यहोगा,जहां'आप'नेकांग्रेसकोसत्तासेबेदखलकियाहै।पंजाबकेबाद'आप'कीनजरअबदेशकेउनराज्योंपरहोगी,जहांकांग्रेसऔरबीजेपीकासीधामुकाबलाहै।इसकाअगलाप्रयोगसालकेअंतमेंगुजरातमेंदेखनेकोमिलसकताहै,जहांविधानसभाचुनावहोनेहैं।वहीं,हिमाचलप्रदेश,कर्नाटक,छत्तीसगढ़,मध्यप्रदेश,राजस्थानमेंभीचुनावहोनेहैं,जहांमोटेतौरपरमुकाबलाकांग्रेस-बीजेपीकाहीहै।राष्ट्रपतिचुनावसेलेकरराज्यसभातकदिखेगायूपीसमेत5राज्योंकेजनादेशकाअसर,जानेंकैसेकांग्रेसकेभीतरबढ़ेगीउठा-पटकआनेवालेदिनोंमेंकांग्रेसकेभीतरतमामउठा-पटकदिखाईदेसकतीहैं।पार्टीमेंअसंतुष्टनेताओंकागुटजी23एकबारफिरमुखरहोकरसामनेआसकताहै।वहींकुछनेताआनेवालेसमयमेंकांग्रेसछोड़भीसकतेहैं।इसकाअसरकेंद्रीयसंगठनसेलेकरराज्यइकाइयोंतकमेंदेखनेकोमिलसकताहै।चर्चाहैकिसंगठनचुनावमेंअगरराहुलगांधीअध्यक्षपदकेलिएदावेदारीकरतेहैंतोउन्हेंपार्टीकेभीतरसेचुनौतीभीमिलसकतीहै।कांग्रेसकेकुछसीनियरनेतादूसरेविपक्षीदलोंकेसाथमिलकरएकनयाविकल्पभीतैयारकरसकतेहैं।